इस नेता से सहम गयी भाजपा उत्तराखंड?

0
23

देहरादून। जँहा एक ओर भजपा अपने आप को अनुशासित पार्टी कहती है वंही भाजपा पार्टी के एक नेता है जपिंदर सिंह जो अपने बयानों के कारण हमेशा सुर्खियों में बने रहते हैं.. इस बार उन्होंने पार्टी थीम से अलग प्राइवेट स्कूलों की मनमानी और फीस वृद्धि को लेकर अभिभावकों की तरफ से हाईकोर्ट में रिट लगाई जिसके बाद हाईकोर्ट ने स्कूल प्रशासन को कड़ा संदेश भी दिया और जपिंदर सिंह भाजपा नेता प्राइवेट स्कूलों की मनमानी को लेकर सभी अभिभावकों के सरदार भी बन गए उनकी इस कारगुजारी के चलते भाजपा के नेताओं में असंतोष की भावना जन्म ले गई और पार्टी में उनका विरोध होना शुरू हो गया पार्टी ने उन्हें शो को नोटिस जारी किया कि पार्टी को लेकर उन्होंने विवादित बयान और इश्तिहार दिया है लेकिन इसका जवाब जतिंदर सिंह ने बखूबी दे भी दिया है पार्टी को जवाब मिलने के बाद पार्टी के नेता अगली बागली झांकने लगे हैं जिसके बाद पार्टी के नेताओं ने अब यह पूरा मामला अनुशासन समिति को सौंप दिया और यह भी कहा है कि आने वाले दिनों में अनुशासन समिति ही तय करेगी कि जपिंदर सिंह पर क्या कार्यवाही की जानी है

पार्टी में जुम्मे-जुम्मे 4 दिन पहले ज्वाईन करने वाले स्वघोषित वरिष्ठ भाजपा नेता कुँवर जपेन्द्र सिंह के द्वारा पिछले दिनों मीडिया में सरकार और संगठन के खिलाफ दिए गये बयान पर संगठन ने जपेन्द्र सिंह को नोटिस दे कर जबाब तो तलब कर दिया लेकिन इतने दिन बीत जाने के बाद भी कार्रवाई के नाम पर लीपा पोती हो रही है आखिर क्यों।

वंही इस सम्बंध में प्रदेश महामंत्री कुलदीप कुमार ने सफाई देते हुए कहा नोटिस का जबाब 13 मई को ही मिल गया था पत्र को अनुशासन समिति को सौपा गया है अब निर्णय समिति को ही लेना है ।

हालांकि कुलदीप कुमार ने बताया कुँवर जपेन्द्र सिंह को अखबारों में छपवाए गये विज्ञापन और संगठन व सरकार पर लगाये गये अनर्गल आरोपो को संज्ञान में लेते हुए नोटिस दिया गया था ।

यंहा आप को बता दे कि कुँवर जपेन्द्र सिंह ने सोशल ,इलेक्ट्रॉनिक व प्रिन्ट मीडिया में अपने बयान में सरकार पर सीधे तौर पर निशाना साधते हुए कहा था कि शिक्षा माफियाओं को सरकार का संरक्षण प्राप्त है।

कुलदीप कुमार , प्रदेश महामंत्री भाजपा

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here