देहरादून वालों कुछ तो सीख लो पौड़ी से!

0
48

लोकजन टुडे, पौड़ी
रिपोर्ट-मुकेश बछेती

i
इसे कहतेे इसे कहते हैंं समझदारी का परिचय देना अपनी जान की स्वयं रक्षा करना अज्ञानियों के बहकावे में बिल्कुल भी न आना अगर किसी को सीखनाा हैअगर किसी को सीखना है तो अगर किसी को सीखना है तो पौड़ी वालों से सीखो…

भले ही मुख्यमंत्री ने किसी कारण वश ऐसा निर्णय लिया हो जिसमे मुख्यमंत्री द्वारा की की गई लॉक डाउन में अतिरिक्त छूट दे दी हो इस निर्णय को सुनकर तो कुछ लोगों को बिल्कुल भी यकीन नहीं आया कि आखिर इतनी लंबी समय सीमा क्यों दी जा रही है कहां तो मुख्यमंत्री खुलेआम कह रहे हैं कि सोशल डिस्टेंसिंग अपनानी चाहिए और सुबह 7:00 से 10:00 काफी भीड़ हो जा रही है तो ऐसा भी हो सकता है कि मुझे टोटल  कर्फ्यू लगाना पड़े बावजूद इसके मुख्यमंत्री का निर्णय सबको चकित करने वाला था बहरहाल कुछ भी हो ऑडी की जनता ने दिखा दिया है कि समझदारी है तो जीवन है अन्यथा दिक्कत बढ़नी लाजमी है इसका जीता जागता असर आज देखने को मिला मुख्यालय पौड़ी और उसके आसपास के क्षेत्रों में कोई खास असर देखने को नहीं मिला। लॉक डाउन में अतिरिक्त छूट होने के बावजूद भी लोग मुख्य बाजारों से दूर ही नजर आए, 1:00 बजे मौसम खराब के7 कारण लोग अपने घरों से बाहर सामान लेने के लिए नहीं निकले और दुकानदार ग्राहकों की आस में दुकान में यू मायूस ही बैठे नजर आए। आपको बता दें कि प्रदेश की मुख्यमंत्री ने आज एक दिन का अतिरिक्त लॉक डाउन में छूट दी थी, जिसके अंतर्गत आज सुबह 7 बजे से लेकर 1 बजे तक आमजन लोग आपने जरूरी सामान को ले सकते थे जिसके कारण ग्राहकों की आस में खुले किराना और अन्य जरूरी सामान की दुकान बिन ग्रहक की नजर आई। हालांकि यह एक अच्छा संकेत भी है कि लोग अनावश्यक रूप से अपने घरों से बाहर नहीं निकले जिससे कोरोना वायरस से लड़ने में जिला प्रशासन को भी आमजन को बाजारों से दूर रखने में कम ही मशक्कत करनी पड़ी । अगर आने वाले समय मे भी अगर आमजन इसी तरह जागरूक होकर अनावश्यक बाजारों में न आए तो यह जिला प्रशासन के लिए भी राहत भरी खबर होगी।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here