प्राइवेट स्कूलो की मनमानी पर होगी बड़ी कार्यवाही: शिक्षा मंत्री

प्राइवेट स्कूलों की मनमानी पर शिक्षा मंत्री, अधिकारियों को दिशा निर्देश देते हुए
प्राइवेट स्कूलों की मनमानी पर शिक्षा मंत्री, अधिकारियों को दिशा निर्देश देते हुए..

रूद्रपुर। शिक्षा मंत्री श्री अरविन्द पाण्डेय द्वारा आज कलेक्ट्रेट सभागार से मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह, शिक्षा सचिव आर मीनाक्षी सुन्दरम व सभी जिलाधिकारियो, मुख्य शिक्षा अधिकारियो से वीडियो कान्फ्रेन्स कर आवश्यक दिशा निर्देश दिये। शिक्षा मंत्री ने कहा इस समय हम कोविड-19 से संघर्ष कर रहे है ऐसे मे सरकार की मंशा आम आदमी को राहत देने की है। उन्होने कहा कि कुछ प्राईवेट विद्यालयो द्वारा अभिभावको से अवैध फीस लेने का दबाव बना रहे है। उन्होने कहा कि अवैध फीस लेने वाले विद्यालयो पर कडी से कडी कार्यावाही अमल में लायी जायेगी। उन्होने कहा ट्यूशन फीस के अतिरिक्त कोई भी शुल्क न लिया जाय। विद्यालय खुलने के बाद फीस एक साथ जमा न कर किस्तो में फीस ली जाय। उन्होने कहा जो अभिभावक फीस देने में सक्षम है वे फीस जमा कर सकते है। उन्होने कहा इस समय सभी विद्यालय बन्द है इसके बावजूद कुछ विद्यालयो द्वारा स्कूल बस, कम्प्यूटर आदि की भी फीस ली जा रही है। उन्होने कहा ऐसे विद्यालयो पर कार्यवाही करते हुये उनकी मान्यता भी रद्द की जाय। ज्ञात हो कि देहरादून जिलाधिकारी ने प्राइवेट स्कूलों की मनमानी पर इससे पहले ही आदेश जारी कर दिए थे जिसके पास सोशल मीडिया पर रुद्रपुर में अभिभावकों ने काफी बहस की थी शायद इन्हीं सब बातों का संज्ञान लेते हुए शिक्षा मंत्री ने आज एक बड़ा फैसला लिया है

प्रतीकात्मक कार्टून

शिक्षा मंत्री ने कहा इस भ्रष्टाचार को रोकने में जो खण्ड शिक्षा अधिकारी, जिला शिक्षा अधिकारी व मुख्य शिक्षा अधिकारी कार्य नही कर पा रहे है उनके खिलाफ भी कार्यवाही करने की आवश्यकता है। उन्होने कहा किसी विद्यालय की शिकायत आने पर सोशल मीडिया के माध्यम से मुझे अवगत कराये ताकि उन विद्यालयो के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी। उन्होने कहा सभी विद्यालय में केवल एनसीआरटी की किताबे ही मान्य होगी। एनसीआरटी के अलावा कोई पाठ्यक्रम की किताबे मान्य नही होगा।

सुनिए शिक्षा मंत्री ने क्या कहा प्राइवेट स्कूलों पर..

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here