बीजेपी पार्षदों और मुख्य नगर आयुक्त के बीच का विवाद निपटा!

गंगाजल की सौगंध खाने वाले पार्षदों और तानाशाह एमएनए के बीच की तकरार खत्म!

राजीव चावला/ लोकजन टुडे।

रुद्रपुर। नगर निगम मुख्य नगर अधिकारी और भाजपा पार्षदों के बीच हुए आरोप प्रत्यारोपो का विवाद आखिर निपट ही गया, भाजपा जिला कार्यालय पर प्रदेश नेतृत्व के दिशा निर्देश के बाद भाजपा जिलाध्यक्ष शिव अरोरा, रुद्रपुर विधायक राजकुमार ठुकराल और रुद्रपुर नगर निगम के मेयर रामपाल की मौजूदगी में सभी पार्षदों की एक बैठक हुई, जहां पार्षदों और मुख्य नगर आयुक्त के बीच पनपे विवाद को खत्म करते हुए भाजपा के सभी पार्षदों ने अपने दिए हुए इस्तीफे को वापस लिया।
लेकिन ली हुई सौगंध के चलते नगर निगम केम्पस में ना जाने का फैसला बरकरार रखा है।

बीते कुछ दिनों पूर्व बीजेपी वार्ड नंबर 10 की महिला पार्षद किरण राठौर ने मुख्य नगर आयुक्त जयभारत सिंह पर तानाशाही का आरोप लगाते हुए अपने सभी पार्षदों के साथ सामूहिक इस्तीफा दे दिया था जिसके बाद आए दिन जनप्रतिनिधियों के यहां ज्ञापन देते हुए और गंगाजल की सौगंध खाकर सभी पार्षदों ने मुख्य नगर आयुक्त को रुद्रपुर नगर निगम से हटाने की कसम भी खाई थी।

लेकिन सूबे के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ,शहरी एवं विकास मंत्री मदन कौशिक और संगठन महामंत्री अजेय कुमार ने उधम सिंह नगर जिले के भाजपा जिलाध्यक्ष शिव अरोरा, विधायक राजकुमार ठुकराल और रुद्रपुर मेयर रामपाल इन 3 लोगों की एक कमेटी बनाई, बीती शाम इस कमेटी के तीनों मेंबरो ने सभी पार्षदों को भाजपा के जिला कार्यालय बुलाया और पार्षदों की बातें सुनी, पार्षदों की आप बीती सुनने के बाद यह निष्कर्ष निकला कि पार्षदों के क्षेत्रो में रुके हुए जितने भी विकास कार्य हैं उन सभी विकास कार्यों को अमलीजामा पहनाया जाएगा, साथ ही उनके मान-सम्मान का भी पूरा ध्यान रखा जाएगा इन सभी बातों के साथ सभी पार्षदों ने अपने दिए हुए इस्तीफे को वापस लिया, लेकिन पार्षदों के द्वारा एमएनए को पद से हटाने के मामले को लेकर गंगाजल की कसम खाने वाले पार्षद नगर निगम कार्यालय केम्पस में नही जाएंगे, उनका कहना है कि उन्होंने आंदोलन स्थगित किया है ।

पार्षदों ने प्रदेश नेतृत्व के द्वारा बनाए गए कमेटी जिलाध्यक्ष शिव अरोरा, विधायक राजकुमार ठुकराल और मेयर रामपाल का धन्यवाद किया।

वह इस पूरे मामले पर भाजपा जिलाध्यक्ष शिव अरोरा ने लोकजन टुडे संवाददाता राजीव चावला से बातचीत में बताया कि उन्हें जो मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक, और संगठन महामंत्री अजेय कुमार के द्वारा जो दिशा निर्देश दिए गए थे उन्होंने इस पूरे मामले को लेकर पार्षदों की बात सुनने के बाद नाराज पार्षदों को मना लिया है, और सभी पार्षदों के मान-सम्मान का भी हमेशा पूरा ध्यान रखा जाएगा।

उधर जिलाध्यक्ष शिव अरोरा, मेयर रामपाल ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक और संगठन महामंत्री अजय कुमार का आभार व्यक्त किया।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here