ये है उत्तराखंड के रियल हीरो..

0
86

 

आए दिन सोशल मीडिया के तामाम प्लेटफॉर्म पर देखने व पढ़ने को मिल रहा है कि, माननीय नेता जी ने अपनी सरकारी कोष निधि से “कोरोना वायरस” को लेकर दान दे दिया.. । नेता जी के इस उपकार को उनके चहेते ऐसा प्रचारित कर रहे हैं कि मानों नेता जी ने अपने खून पसीने की मेहनत दिल पर पत्थर रखकर पुण्य के काम में न्यौछावर कर दी हो ।

गज़ब..! और तो छोड़िए जनाब अखबारों में भी छपवा देते हैं फोटो के साथ । लेकिन यह किसी ने नहीं सोचा कि नेताजी कितने बड़े दानवीर हैं ! ऐसा कभी सुनने में नहीं आता कि नेता जी ने किसी भी जरुरतमंद को अपनी गाढ़ी कमाई से गरीबों के लिए कुछ किया या सोचा हो । ऐसा बहुत कम सुनने में मिला है कि किसी इंसान ने अपनी कमाई का कुछ हिस्सा गरीबों में बांटा और खासकर संक्रमण के समय.. और जो लोग ऐसा करते वह समाज में किसी फरिश्ते सेंकम नहीं होते हैं ।

माननीय मुख्यमंत्री जी आप ही देख लो आपके नेता मंत्री कितने दानवीर है…! कहने को तो जनता का प्रतिनिधि या कहें सेवक विधायक जी लाखों रुपए की सैलरी सरकार से लेते हैं, लेकिन अभी तक एक को छोड़कर किसी ने अपने वेतन से एक चवन्नी देने की हिमाकत नहीं की । उल्टा जनता के लिए तय हुई निधि को ही दान कर दानबीर बन वाहवाही लूटी रहे हैं । अच्छा होता कि सभी माननीय विधायकों ने 3 वर्षों में अपनी विधायक निधि से अपने-अपने क्षेत्रों में चिकित्सा सेवा के सुधार में यह निधि समय रहते खर्च की होती ।

खैर… छोड़िए, यह तो रही माननीयों की बात लेकिन यहां कोई ऐसा दानवीर भी नहीं है जो इस मुश्किल की घड़ी में है ऐसे गरीब लोगों का साथ दे, जो वाकई में बेचारे है, जिनके पास दो समय की रोटी भी नहीं है, जो रोज कुआं खोदते हैं और पानी पीते हैं…! ऐसे आपातकाल में गरीब परिवार अपने बच्चों को कैसे खाना खिलाये, क्या किसी नेता में इतनी भी मानवीय संवेदनाएं नहीं बची है । शहर में बड़े-बड़े होर्डिंग लगाने के लिए पैसे हैं, लेकिन अपने वोटरों की भूख बुझाने का इनके पास समय नहीं है ।

अरे माननीय भाई लोगों मदद करो ऐसे परिवारों की जिनके पास खाने के लाले पड़ गए हैं ।

◆ खुशी होती है इस नाउम्मीदी के बीच अपने एक पूर्व पत्रकार साथी को देखकर जिन्होंने अपना पूरा वक़्त समाजसेवा के लिए समर्पित कर दिया है । आज यह नाम अपने सेवा कार्यों के चलते सबकी ज़ुबान पर रहता है । सालों साल से जरूरतमंदों की मदद आगे रहने वाला परिवार है शशि भूषण मैठाणी पारस का । मुश्किल की घड़ी में बेजुबान जानवरों से लेकर इंसानों तक को मुश्किल की घड़ी में मददगार साबित होता है समाजसेवी शशि भूषण मैठानी ।

और इस बार भी जहां सक्षम व पढ़े-लिखे लोगों में राशन जमा करने की होड़ मची है तो वहीं शशि भूषण अपने परिवार के साथ-साथ दर्जनों अन्य परिवारों का पेट भरने का पुण्य कर रहे हैं ।

वह अपनी गुंजाइश के हिसाब से गरीबों की मदद करने में आगे है । कभी सर्द रातों में लोगों से मांग-मांगकर गरीबों के लिए कपड़े इकट्ठे करने हो, या कभी भूखों की भूख बुझाने के लिए राशन वह कभी भी पीछे नहीं हटता । खास बात यह कि यह समाजसेवी कभी भी चंदे में किसी से पैसे नहीं मांगता है । बल्कि जरूरत के हिसाब से दान में कपड़े या राशन ही मांगता है जिस कारण अब कई दानी लोग शशि भूषण मैठाणी को खुशी खुशी सामान दान करते हैं ।

कोरोना वायरस की महामारी के बीच एक बार फिर मैठाणी की पहल आजकल चर्चाओं में आ गई । इस मुश्किल घड़ी में जब सरकार ने लोगों को बाहर निकलने की पाबंदी लगा दी हो और पूरा शहर लॉक डाउन हो तो ऐसे मुश्किल हालात में समाजसेवी शशि भूषण मैठाणी की जानकारी भी आपको जरूर रखनी चाहिए । आप जानते हैं वह कहाँ हैं ? और क्या कर रहे हैं ..?? चलिये मैं बताता हूं । दरअसल यह समाजसेवी अपने पूरे परिवार के साथ मिलकर गरीब लोगों के लिए सामान की पोटली बनाने में जुटा हुआ है । मैं ऐसे लोगों के लिए दिल से नमन करता हूँ । और मैं भी अपने पूर्व पत्रकार मित्र शशि भूषण मैठाणी की इस मुहिम में यथासंभव मददगार भी दूंगा । क्योंकि एक अकेला बन्दा कब तक अकेले यह जिम्मेदारी उठा पाएगा । इसलिए मेरा अनुरोध कि आप भी इस परिवार से संपर्क करें और जरूरतमंदों तक इन नवरात्रों में मदद पहुंचाएं पुण्य के भागीदार बनें ।

◆ लेकिन इसी बीच उत्तराखंड सरकार के दो विधायक भी ऐसे हैं जिन्हें नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है । जहां एक ओर तमाम जनप्रतिनिधि जनता के विकास कार्यों के लिए स्वीकृत निधि को दान कर स्वयं दानबीर बन रहे हैं । वहीं विधायक गणेश जोशी व विनोद कण्डारी ने अन्य माननीयों को आईना दिखाने काम किया है ।

देवप्रयाग के विधायक विनोद कंडारी ने अपने एक माह की वेतन जरूरतमंदों के लिए दान कर दिया जो वाकई में काबिले तारीफ है । दूसरे विधायक है गणेश जोशी, मसूरी विधानसभा से विधायक है वह भी सड़कों पर उतरकर अनूठा काम कर रहे हैं । जोशी ड्यूटी में तैनात पुलिस व होमगार्ड कर्मियों को कोरोना के संक्रमण से बचाने के प्रयासों में जुटे हैं । जनता की सुरक्षा में 24 घंटे सड़कों पर मुस्तैद जवानों को विधायक जोशी निःशुल्क सैनिटाइजर और मास्क बांट रहे हैं ।

धन्य हो ऐसे सभी लोग लोग जो जरूरतमंदों के लिए कुछ ना कुछ अपनी व्यक्तिगत कमाई व शाररिक शर्म से कर रहे हैं । “लोकजन टुडे” की पूरी टीम ऐसे सभी दानवीरों को दिल से नमन करती है !
सल्यूट.. सल्यूट.. सल्यूट !

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here