आर्यभट्ट प्रेक्षण एवं शोध संस्थान वेबिनार में 8 देशों के 150 वैज्ञानिकों ने किया प्रतिभाग

0
16

रिपोर्ट: नीतू आर्या

नैनीताल: मनोरा पीक आर्यभट्ट प्रेक्षण एवं शोध संस्थान एरिज में हेमवती नंदनंदन बहुगुणा गढ़वाल यूनिवर्सिटी के भौतिक विभाग के सहयोग से 3 दिवसीय वेबिनार सोमवार से शुरू हो गया है।

वेबिनार में हिमालय क्षेत्र में जलवायु परिवर्तन,वायु की गुणवत्ता, जल संसाधन से आजीविका पर प्रभाव जैसी महवपूर्ण विषयो पर विषय-विशषज्ञों ने अपने व्याख्यान दिए। एरीज़ के निदेशक प्रो.दीपांकर बनर्जी ने एस टी रडार का ट्रायल सफल होना एरीज़ के लिए बड़ी उपलब्धि बताते हुए कहा कि इससे वायुमंडल से सम्बंधित कई जानकारियां आसानी से उपलब्ध होने के साथ ही वायुमंडलीय शोध में भी शोधकर्ताओं को काफी ममद मिलेगी।

उन्होंने बताया एसटी रडार उच्च हिमालय क्षेत्र के वायुमंडल में उठने वाले विक्षोभ का पूर्वानुमान लगाने में बेहद कारगर है। वायु विक्षोभ के साथ ही हिमालय क्षेत्र की हवा की गति व दिशाओं का पूर्वानुमान आसानी से होगा। जिससे मौसम की सटीक जानकारी प्राप्त हो सकेगी। और पूर्वानुमान में काफी मदद मिलेगी। वेबिनार में 8 देशो के 150 वैज्ञानिकों ने प्रतिभाग किया।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here