एक लाख का चेक लेने पर क्यों हुई डीएम की फोटो वायरल!

0
63

ये हैं चमोली की डीएम साहिबा..अक्सर सोशल मीडिया पर छाई रहती है लेकिन शायद आजकल लॉक डाउन में परेशान है हम ये इसीलिए कह रहे है कि पहाड़ में कितने कम संसाधनो के चलते लोग अपनी बचत करते है और अपनी बचत में से वह पैसा प्रधानमंत्री राहत कोष देने के लिए आते हैं इससे यह पता चलता है कि पहाड़ में रहने वाला आदमी देश के प्रति कितना सजग है निम्न संसाधनों से कमाई धनराशि में से प्रधानमंत्री राहत कोष में अपनी बचत में से पैसा प्रधानमंत्री राहत कोष में जमा करना वाकई काबिले तारीफ है लेकिन यह मामला तब थोड़ा सा अजीब हो गया जब जिला चमोली के भाजपा नेता वीरेंद्र असवाल मध्यमवर्गीय व्यापारी हैं ने प्रधानमंत्री राहत कोष में अपनी बचत से ₹100000 देने डीएम साहिबा के वहां पहुंचते हैं जो कि पहाड़ के लिहाज से बेहद बड़ी बात है लेकिन फोटो देखकर ऐसा लगता है कि डीएम साहिबा को इस बात पर कोई रिएक्शन नहीं दिया .. हो सकता है डीएम साहिबा कार्यभार बहुत बढ़ गया हो  तभी तो उक्त युवक को उत्साहवर्धन तो बहुत दूर की बात है.. चेक लेते समय डीएम साहिबा अपनी कुर्सी से उठी तक नहीं..हम यहां ऐसा नहीं कह रहे कि कुर्सी से उठना जरूरी होता है हो सकता है डीएम साहिबा शायद अपने कार्यों में ज्यादा व्यस्त हो.. सोशल मीडिया पर डीएम साहिबा का यह फोटो काफी वायरल हो रहा है हो सकता है डीएम साहिबा सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन कर रही हो लेकिन एक हाथ से दूसरे हाथ में पहुंचा चेक क्या संक्रमण फैला सकता है… क्या छूने से संक्रमण फैल सकता है… हमें तो पता है शायद डीएम साहिबा यह भूल गई आजकल कोरोनावायरस के संक्रमण ने सोशल डिस्टेंसिंग और हाथ मिलाने जैसी सामाजिक चीजों को एकदम दूर कर दिया है हम सभी को इस बात से सीख लेनी चाहिए अगर कोरोनावायरस को हराना है हाथ ना मिलाना और सोशल डिस्टेंसिंग को अपनाना है…

 

 

 

 

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here