वीडियो देखिये: जिलाधिकारी आशीष श्रीवास्तव की सबसे जायदा चर्चा आखिर क्यों…

0
61

रुद्रपुर। निजी स्कूलों की मनमानी के खिलाफ देहरादून जिला अधिकारी आशीष श्रीवास्तव के द्वारा मिली अभिभावकों को राहत की अब हर जगह प्रशंसा हो रही है।

उधम सिंह नगर जनपद में निजी स्कूलों की मनमानी और अभिभावकों से फीस जमा कराने के मामले को लेकर जहां पूर्व छात्र नेताओं ने इसका विरोध शुरू कर दिया है तो वही देहरादून जिले के अभिभावकों को देहरादून के जिला अधिकारी आशीष श्रीवास्तव ने राहत दी है जिसको लेकर उधम सिंह नगर की जनता भी देहरादून डीएम आशीष श्रीवास्तव का धन्यवाद कर रही है और उनके इस आदेश की सराहना कर रही है।

उधम सिंह नगर जनपद के अभिभावक अब आस लगाकर बैठे हैं कि देहरादून में हुआ आदेश उधम सिंह नगर जनपद में भी हो जाए, क्योंकि एक प्रदेश में दो तरह के आदेश कैसे हो सकते हैं वहीं अगर बीते रोज की बात की जाए तो प्रशासन ने निजी स्कूल एसोसिएशन के साथ बैठक की जिसमें यह तय हुआ कि जो लोग सक्षम है वह लोग फीस जमा कर सकते हैं लेकिन अभिभावकों के द्वारा लगातार सोशल मीडिया पर यह मैसेज सर्कुलेट किए जा रहे हैं कि अभिभावकों पर जबरन फीस देने का दबाव बनाया जा रहा है जिसको लेकर पूर्व छात्र नेता और कई सामाजिक लोग सोशल मीडिया पर आंदोलन छेड़े हुए हैं।

 लोकजन टुडे, देहरादून। जँहा एक ओर प्रधानमंत्री मोदी देश के सक्षम लोगो से अपील कर रहे है कि वो अपने आसपास रह रहे जरूरत मन्द लोगो की मदद करे साथ ही स्कूलों से भी फीस न लेने की अपील की जा रही है , वंही उत्तराखंड की बात करे तो भाजपा नेता कुंवर जपेंदर सिंह ने प्रदेश में फीस एक्ट न होने की बात कहते हुए सरकार को ही कटघरे में खड़ा कर दिया है। जपेंदर सिंह ने कहा प्रदेश में निजी स्कूल सरकार से समाज सेवा के नाम पर कई तरह के टैक्स फ्री करवाते है लेकिन इस आपदा की घड़ी में भी अभिवावकों को किसी तरह की राहत नही द रहे है । प्रदेश में फीस एक्ट न होने की बजह से निजी स्कूल मनमानी कर रहे जबकि कई राज्यो में फीस एक्ट के तहत 3 माह तक की फीस माफ की गई है लेकिन दुर्भाग्य है उत्तराखंड का जँहा शिक्षा माफियाओं की बजह से अभी तक सरकार फीस एक्ट नही बना पाई है जिसका खामियाजा प्रदेश के लाखों अभिवावकों को भुगतना पड़ रहा है।
कुंवर जपेंदर सिंह, भाजपा नेता

 

 

 

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here