एआरटीओ कार्यालय में 0 टॉलरेंस में हो रही मनमानी के खिलाफ, जनहित में उच्च न्यायालय जायेंगे – ढिल्लों।

एआरटीओ कार्यालय रुद्रपुर में हो रहे भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ उच्च न्यायालय में जनहित याचिका लगाएंगे ढिल्लों।

राजीव चावला/ लोकजन टुडे/ रुद्रपुर, ऊधमसिंहनगर।


एआरटीओ कार्यालय रुद्रपुर में हो रही जनता, ट्रांसपोर्टरो से लूट के खिलाफ एडवोकेट कुलबीर सिंह ढिल्लों ने अब जनहित याचिका उच्च न्यायालय में लगाने का फैसला लिया है, यह निर्णय ढिल्लों ने जनहित में लिया है।

ढिल्लो का कहना है कि एआरटीओ रुद्रपुर व कार्यालय स्टाफ के ख़िलाफ़ सबूतों उनके पास कार्यालय में हो रहे भ्रष्टाचार के साथ साथ कार्यालय में रखी जाने वाली मूल पत्रावलियो के भी कम होने का दावा किया,
ढिल्लो ने एआरटीओ कार्यालय रुद्रपुर में तैनात अधिकारियों/कर्मचारियों की भी सरकार, शासन और विजिलेंस विभाग से संपत्ति की जांच करने की भी मांग की है।

कई वर्षों से रुद्रपुर कार्यालय में तैनात अधिकारी और कर्मचारियों के स्थानंतरण ना होने पर भी उच्च स्तर पर मिलीभगत होने का आरोप लगाया है।
ढिल्लो का कहना है कि उनके द्वारा लगाए गए आरोपो की जांच अगर झूठी पाई जाती है तो ढिल्लो जांच पर खर्च होने वाले खर्च को भी देने का दावा कर रहे है।

ढिल्लो का कहना है कि उनके द्वारा एआरटीओ कार्यालय से मांगी गई सूचना अधिकारी से सूचनाओं का जवाब भी नही दिया जा रहा है, जिसकी जिलाधिकारी, कुमाऊँ कमिश्नर, परिवहन विभाग, को शिकायत करने के बाद भी कार्यवाही न होना दुर्भाग्यपूर्ण है व अधिकारियों की मिलीभगत को दर्शाता है,और जीरो टॉयरेंस की पोल खोलता है, ढिल्लों द्वारा ARTO रुद्रपुर के सूचना न देने के ख़िलाफ़ अपील भी दायर कर दी है, अब ढिल्लों ने बताया कि बहुत ही जल्दी वे माननीय उच्च न्यायालय नैनीताल की शरण में जनहित में यह लड़ाई लड़ेंगे, और उत्तराखंड की जनता को लूटकर अपने घर भरने वाले अधिकारियों एवं कर्मचारियों के कारनामो का खुलासा करेंगे।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here