8 फरवरी: STF उत्तराखंड साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन देहरादून द्वारा जारी Cyber Bulletin

0
39

देहरादून: स्पेशल टास्क फोर्स उत्तराखंड के अंतर्गत कार्यरत साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन देहरादून द्वारा आज के साइबर बुलेटिन CYBER BULLETIN :


1-  इन्दिना नगर जनपद देहरादून निवासी व्यक्ति द्वारा थाना साईबर क्राईम पर शिकायत दर्ज करायी गयी कि उनके एक अज्ञात व्यक्ति द्वारा फोन कर स्वयं को Phonepe कस्टमर केयर अधिकारी बताकर फोनपे पर कैशबैक को खाते मे स्थानान्तरित करने के नाम पर शिकायतकर्ता के बैंक खाता/डेबिट कार्ड आदि का विवरण प्राप्त कर कुल 65,000/- रुपये ऑनलाईन निकासी कर धोखाधड़ी की गयी है । उक्त प्रार्थना पत्र की जांच उ0नि0 निर्मल भट्ट द्वारा की गयी, जांच उपरान्त प्रकरण में अभियोग पंजीकृत किया गया ।

2- काशीपुर जनपद उधमसिंहनगर निवासी व्यक्ति द्वारा साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन, कुमायूं परिक्षेत्र को एक शिकायती प्रार्थना पत्र प्रेषित किया गया, जिसमें उनके द्वारा अवगत कराया गया कि उनके द्वारा गूगल से पिजा आर्डर का नम्बर तलाश कर फोन से ऑनलाईन पिजा आर्डर किया गया जा रहा था, उक्त व्यक्ति द्वारा एक लिंक भेजा गया तथा 10/- रुपये पेमेन्ट करने हेतु कहां गया, शिकायतकर्ता द्वारा उन पर विश्वास करते हुये भेजे गये लिंक पर क्लिक कर 10/- रुपये की पेमेन्ट की गयी, जिसके उपरान्त उनके खाते से विभिन्न किस्तो में कुल 59642/- रुपये की निकासी होना पाया गया। उक्त प्रार्थना पत्र पर साईबर थाना कुमायूं परिक्षेत्र के प्रभारी निरीक्षक ललित मोहन जोशी द्वारा की गयी । प्रकरण में आरक्षी मुहम्मद उस्मान द्वारा तत्काल कार्यवाही करते हुये सम्बन्धित मर्चेन्ट Playerzpot gaming merchant से पत्राचार/समन्वय स्थापित कर साईबर अपराधी द्वारा की गयी शॉपिंग को निरस्त कराते हुये सम्पूर्ण धनराशि रुपये 59,642/- शिकायतकर्ता के खाते में वापस करायी गयी। मोबाइल धारक की जानकारी की गयी तो उक्त नम्बर पश्चिम बंगाल का होना पाया गया । शिकायतकर्ता द्वारा प्रसन्नता व्यक्त करते हुए साइबर थाना पुलिस का आभार प्रकट किया गया।। 

3- रुद्रपुर जनपद उधमसिंह निवासी व्यक्ति द्वारा साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन, कुमायूं परिक्षेत्र को प्रार्थना पत्र प्रेषित किया गया जिसमे उनके द्वारा अवगत कराया गया कि उनके द्वारा यू-ट्यूब पर गेम का विज्ञापन देखा गया तथा आवेदक द्वारा गेम खरीदने हेतु विज्ञापन में दिये गये नम्बर पर कॉल की गयी तथा गेम खरीदने गेम हेतु उक्त व्यक्ति द्वारा दिये गये पेटीएम नम्बर पर 3000/- रुपये भी ट्रांसफर किये गये । गेम खरीदने हेतु निर्धारित धनराशि दिये जाने के उपरान्त भी शिकायतकर्ता को गेम आईडी उपलब्ध नही करायी गयी । उक्त प्रार्थना पत्र पर साईबर थाना कुमायूं परिक्षेत्र के प्रभारी निरीक्षक ललित मोहन जोशी द्वारा की गयी । प्रकरण में आरक्षी मुहम्मद उस्मान द्वारा तत्काल कार्यवाही करते हुये सम्बन्धित मर्चेन्ट Paytm से पत्राचार/समन्वय स्थापित कर साईबर अपराधी द्वारा की गयी, शॉपिंग को निरस्त कराते हुये सम्पूर्ण धनराशि रुपये 3000/- शिकायतकर्ता के खाते में वापस करायी गयी। मोबाइल धारक की जानकारी की गयी तो उक्त नम्बर पश्चिम बंगाल का होना पाया गया । शिकायतकर्ता द्वारा प्रसन्नता व्यक्त करते हुए साइबर थाना पुलिस का आभार प्रकट किया गया ।

4- रुद्रपुर जनपद उधमसिंह निवासी व्यक्ति द्वारा साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन, कुमायूं परिक्षेत्र को प्रार्थना पत्र प्रेषित किया गया जिसमे उनके द्वारा अवगत कराया गया कि उनके बैंक खाते से किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा विभिन्न किस्तो में 17280/- रुपेय ऑनलाईन ट्रांजेक्शन कर निकाल लिये गये है। उक्त प्रार्थना पत्र पर साईबर थाना कुमायूं परिक्षेत्र के प्रभारी निरीक्षक ललित मोहन जोशी द्वारा की गयी । प्रकरण में शिकायतकर्ता की बैंक स्टेटमेन्ट का अवलोकन कर सम्बन्धित गेटवे से पत्राचार किया गया तो ज्ञात हुआ कि शिकायतकर्ता के खाते से धनराशि उक्त कोडा पे गेमिंग एप में व्यय हुयी है। इसके उपरान्त कोडापे गेमिंग एप से पत्राचार कर विवरण प्राप्त किया गया तो पाया गया कि उक्त धनराशि शिकायतकर्ता के पुत्र द्वारा ही गेम खेलने में व्यय की गयी है, शिकायतकर्ता द्वारा भी उक्त सम्बन्ध में अवगत कराया गया है कि धनराशि उनके पुत्र द्वारा ही गेम खेलने में व्यय की गयी है ।

साईबर सुरक्षा टिप…

बच्चो को ऑनलाईन गेम खेलने से रोके, उन पर नजर रखे । 

अपने बैंक सम्बन्धी गोपनीय जानकारी मोबाईल फोन पर संरक्षित न रखे ।

किसी भी सोशल साईट्स पर कम कीमत पर सामान खरीदने के विज्ञापन देखकर लालच में न आये, अधिकृत एवं विश्वसनीय वेबसाईटो से ही ऑनलाईन सामान खरीदे । सामान आर्डर करते समय COD (Cash on Delivery) विकल्प का प्रयोग करें ।

कस्टमर केयर से बताकर फोन करने वाले व्यक्ति की बातो में न आये और न ही उसे अपने वॉलेट/बैक सम्बन्धी को जानकारी साझां करें ।

कृपया गूगल या अन्य किसी सर्च इंजन पर किसी कम्पनी / बैंक का कस्टूमर केयर नम्बर न ढूंढें । कस्टमर केयर का नम्बर सम्बन्धित कम्पनी / बैंक की अधिकारिक वैबसाईट से ही देखें ।