आखिर क्यों मिल रही अपराधियों को पनाह…!

0
9

रिपोर्ट: सलमान मालिक

LokJan Today(रुड़की):  उत्तराखंड का विश्व प्रसिद्ध तीर्थ स्थल पिरान कलियर जहाँ बिना मानकों के दर्जनों गेस्ट हाऊस संचालित हो रहे है। और सबकुछ जानते हुए प्रशासन बेखबर होने का ढोंग रच रहा है।

इन फर्जी गेस्ट हाउसों में बड़ी आसानी से आपराधिक किस्म के लोग पनाह ले लेते है और बड़ी से बड़ी वारदात को अंजाम देने में सफल हो जाते है। कई बार खुफिया विभाग और स्थानीय पुलिस द्वारा गेस्ट हाउसों में छिपे शातिर बदमाशो को गिरफ्तार किया है। लेकिन बिना मानकों के चल रहे गेस्ट हाउसों पर माकूल कार्यवाही नही की गई। यही वजह है कि आए दिन गेस्ट हाउसों की संख्या में इजाफा हो रहा है।

रुड़की से करीब 8 किलो मीटर की दूरी पर बसा पिरान कलियर, जहाँ हजरत मखदूम अलाउद्दीन अली अहमद साबिर पाक की विश्व प्रसिद्ध दरगाह है। यहाँ दरगाह में हाजरी लगाने के लिए देश के ही नही बल्कि विदेशों से भी अकीदतमंद लोग आते है। यहां आने वालों की तादाद को देखते हुए स्थानीय और बाहरी लोगों ने गेस्ट हाउसों का कारोबार बढ़ाया है। कुछ सालों से पिरान कलियर में कुकुरमुत्तों की तरह आगे गेस्ट हाऊस जिनमें दर्जनों गेस्ट हाउस ऐसे है जो बिना मानकों के संचालित किए जा रहे है। इस गेस्ट हाउसों में बड़ी आसानी से आसामाजिक तत्व अपनी पहचान छिपाकर ठहर जाते है और वारदात को अंजाम देकर आसानी से रफूचक्कर भी हो जाते है।

पुलिस ने कई बार अभियान चलाकर गेस्ट हाउसों से ऐसे शातिर बदमाशो को भी पकड़ा है, जो पहचान छिपाकर रह रहे थे। साथ ही पिरान कलियर से खुफिया विभाग ने कई बार बांग्लादेशी नागरिकों को भी पकड़ा है। बिना मानको के फर्जी गेस्ट हाउसों की तादाद बढ़ती ही जा रही हैं, सैकड़ों गेस्ट हाउस बिना माणक पूरे किए बिना ही चलाए जा रहे हैं। पर बावजूद इसके इन गेस्ट हाउसों पर संबंधित अधिकारी कोई भी कार्यवाही करने को तैयार नहीं है।

आपको बता दें कि पिरान कलियर शरीफ में हजरत मखदूम साबिर पिया की विश्व प्रसिद्ध दरगाह है। जहाँ पर देश ही नहीं विदेशों से भी अकीदतमंद अपनी मन्नते मुरादे लेकर पहुँचते हैं। जिसकी वजह से यँहा रोजाना हजारों जायरीनों का जमावड़ा लगा रहता है और उसी को देखते हुए पिरान कलियर में बड़ी तादाद में गेस्ट हाउस चलाए जा रहे और गेस्ट हाऊस स्वामी धड़ल्ले से चाँदी काट रहे हैं। पिरान कलियर में कई बार खुफिया विभाग छापेमारी के दौरान कई संदिग्धों को जेल भी भेज चुका है। पिरान कलियर में अब तक कई बांग्लादेशी भी हिरासत में लिए गए हैं, इतना ही नहीं पुलिस लगातार आपराधिक प्राकृति के लोग जो पहचान छुपाकर यंहा पन्हा लेते हैं उन्हें भी गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी चुकी हैं।

आपको बता दें कि दर्जनों गेस्ट हाउस ऐसे भी हैं जिसमे पहचान पत्र, आधार कार्ड लिए बिना ही बड़ी आसानी से रूम दिए जाते हैं। जिसकी वजह से संदिग्धों को पिरान कलियर में पन्हा मिल जाती हैं और वो अपने मंसूबों को अंजाम देकर बड़ी आसानी से फरार हो जाते है। अब देखने वाली बात यह होगी कि पुलिस या प्रशासन इन गेस्ट हाउसों पर कब तक लगाम लगा पाता है।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here