सीएम के आश्वासन के बाद पूर्व की भांति काम पर लौटे डॉक्टर

0
35

देहरादून: सीएम से वार्ता के बाद माने आंदोलनरत्त डॉक्टर। 1 घंटे की लंबी वार्ता के बाद सभी मांगों पर बनी सहमती।

वेतन कटौती,पीजी डॉक्टरों को पूरा वेतन के साथ ही 5 सूत्रीय थी मांगे।सीएम के आश्वासन के बाद पूर्व की भांति काम पर लौटे डॉक्टर।

कोरोनाकाल में आंदोलन कर रहे डॉक्टरों ने सोमवार को मुख्यमंत्री रावत से मुलाकात की। इसके बाद उन्होंने आंदोलन को स्थगित करने का एलान किया। आपको बता दें कि प्रांतीय चिकित्सा स्वास्थ्य सेवा संघ की पांच मागें हैं। इनमें संगठन ने सरकार के उस फैसले का विरोध किया गया है, जिसमें हर माह एक दिन का वेतन काटा जा रहा है।

वहीं, दूसरी मांग मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की उस घोषणा को लेकर है, जिसमें पीजी करने वाले डॉक्टर को पूरी तनख्वाह देने की बात सीएम रावत ने कही थी, लेकिन इसका आदेश अभी तक जारी नहीं किया गया है। इसके अलावा जिलाधिकारी द्वारा तहसीलदार, पटवारी आदि को अस्पतालों के निरीक्षण के लिए नामित करने और बढ़ते प्रशासनिक हस्तक्षेप का भी विरोध किया गया है।

इसके साथ ही जसपुर में कंटेनमेंट जोन को लेकर प्रभारी चिकित्साधिकारी से की गई अभद्रता पर जसपुर विधायक के खिलाफ कार्रवाई की मांग भी डॉक्टर कर रहे हैं। उन्होंने ये मांग भी की है कि हर विभागीय और प्रशासनिक जांच में अस्पताल में हुई मौत का ठीकरा चिकित्सक के सिर न फोड़े जाए। ये पूरी तरह से गलत है।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here