मनरेगा योजना के अंतर्गत किये गये मार्ग निर्माण में घोटाले का आरोप!

0
26

जसपुर:  विकास खण्ड जसपुर क्षेत्र की ग्राम पंचायत राजपुर में मनरेगा योजना के अंतर्गत संपर्क मार्ग में अनियमितता किये जाने के आरोप में आरटीआई कार्यकर्ता ने मुख्यमंत्री को शिकायती पत्र भेज कर वर्ष 2014-15 में संपर्क मार्ग निर्माण में ट्रेक्ट्रर-ट्राली द्वारा मिट्टी भरान करने तथा बनाये गये बिल/बाउचर तथा एमबी कार्यों में हेराफेरी कर भुगतान करने का आरोप लगाया है । साथ ही किसी उच्चाधिकारी से निष्पक्ष जांच कराकर कार्यों में सम्मिलित अधिकारियों/कर्मचारियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है ।

कुंडा थाना क्षेत्र के ग्राम मिस्सरवाला निवासी आर.टी.आई. कार्यकर्ता आसिम अजहर के द्वारा मुख्यमंत्री को भेजे शिकायती पत्र में कहा है कि विकास खण्ड जसपुर क्षेत्र के ग्राम पंचायत राजपुर में वर्ष 2014-15 में मनरेगा योजना के अंतर्गत इसरार पधान के बाग से फीका नदी तक संपर्क मार्ग निर्माण संबंधित सूचना मांगी गई थी। जिसके उपरान्त लोक सूचना अधिकारी/ग्राम विकास अधिकारी, ग्राम पंचायत राजपुर विकास खण्ड जसपुर के द्वारा जो सूचना उपलब्ध करायी उसमें खुलासा हुआ कि उक्त कार्यों में घोर अनियमिततायें पायी गई हैं ।

आरटीआई कार्यकर्ता का आरोप है कि मनरेगा योजना के तहत किये गये संपर्क मार्ग निर्माण में मिट्टी भरान कार्य मजदूरों द्वारा ही कराया जाता है । जबकि प्राप्त सूचना के अनुसार मिट्टी भरान कार्य ट्रेक्ट्रर-ट्राली द्वारा करना तथा 373 घन मी. 51रु घन मी. के हिसाब से 19 हजार 23 रुपये का भुगतान बैंक के माध्यम से दर्शाया है । जबकि ट्रेक्टर से संबंधित कोई प्रमाण नहीं दिखाया न ही मिट्टी भरान व उठान का किसी भी अधिकारी का प्रमाण-पत्र भी नहीं है ।

इसके अलावा मार्ग निर्माण में मिट्टी भरान कार्य की एमबी में कनिष्ठ अभियंता द्वारा 34 रुपये घन मी. के हिसाब से 560.96 घन मी. दर्शाया है ओर ठेकेदार द्वारा बिल/बाउचर में 51 रुपये घनमी. से 373 घनमी. मिट्टी डालना तथा बिल को कनिष्ठ अभियंता द्वारा प्रमाणित किया गया है । संपर्क मार्ग निर्माण कार्य में 37 मजदूरों द्वारा कार्य करना तथा भुगतान भी किया है ।

आरटीआई कार्यकर्ता आसिम अजहर ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर मनरेगा कार्य एवं बिल/बाउचरों में हेराफेरी करने तथा घोटाला करने के मामले में जांच करने तथा कार्यवाई की मांग की है ।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here