गुरु पूर्णिमा पर बॉर्डर सील, कुछ लोगों ने जताई नाराजगी

0
31

रिपोर्ट: सलमान मलिक

रुड़की: पूरे देश में गुरु पूर्णिमा का त्यौहार मनाया जा रहा है। लेकिन कोरोना के चलते सभी लोग अपने घरों पर ही इसे मना रहे हैं। मंगलौर के नारसन बॉर्डर पर गुरु पूर्णिमा के अवसर पर बाहर से आने वाले व्यक्तियों की भीड़ लगी हुई है लेकिन पुलिस के द्वारा सभी लोगों को वापस किया जा रहा है।

बता दें कि गुरु पूर्णिमा के अवसर पर हरिद्वार में बहुत दिनों से बाहर से आने वाले व्यक्ति गंगा स्नान करते हैं और अपनी मनोकामनाएं पूर्ण करते हैं। लेकिन कोरोना वायरस के चलते सरकार ने फैसला लिया है कि इस बार गुरु पूर्णिमा पर हरिद्वार मे लोगों को नहीं आने दिया जायेगा। सरकार ने सभी लोगों से भी अपील की है सभी लोग इस बार गुरु पूर्णिमा अपने घर पर ही मनाएं जिससे कोरोना वायरस का डर कम बना रहे।

इसी के चलते मंगलौर के नारसन बॉर्डर पर पुलिस द्वारा बाहर से आने वाले व्यक्तियों को वापस भेजा जा रहा है तथा जिनके आधार कार्ड या आईडी उत्तराखंड के हैं उनको ही सिर्फ बोर्डर पार कराया जा रहा है या सिर्फ इमरजेंसी सेवाओं को ही आगे जाने दिया जा रहा है। इस पर कुछ लोग नाराज भी हो रहे हैं। लोगों का कहना है कि वे गंगा स्नान के लिए नहीं जा रहे है कोई किसी काम से जा रहा है तो कोई किसी ज़रूरी काम से आया है ।

वहीं सीओ मंगलौर अभय कुमार ने बताया कि सरकार के निर्देशानुसार किसी भी बाहरी व्यक्ति को उत्तराखंड में नहीं आने दिया जाएगा। जिससे कोरोना वायरस खतरा कम बना रहे और अगर कोई ऐसा करता है तो उसके खिलाफ उक्त कार्रवाई की जाएगी तथा उन लोगों को 14 दिन के लिए क्वारंटाइन किया जाएगा जिसका खर्च वही लोग वहन करेंगे।

)

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here