कोरोनो वायरस : चीन की मदद के लिए मोदी ने लिखा खत, राष्‍ट्रपति शी चिनफ‍िंग ने कहा, Thanks Modi Ji…

0
56

LokJan Today: कोरोना वायरस पर चीन के राष्‍ट्रपति शी चिनफ‍िंग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पेशकश की सराहना करते हुए कहा है कि यह बीजिंग के साथ नई दिल्ली की मित्रता को पूरी तरह से प्रदर्शित करता है। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने कहा कि हम एनसीपी नॉवेल कोरोनावायरस निमोनिया के खिलाफ भारत के समर्थन के लिए धन्यवाद और सराहना करते हैं।


बता दें कि चीन में जानलेवा कोरोना वायरस को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वहां के राष्ट्रपति शी जिनपिंग को मदद की पेशकश की थी। मोदी ने शी से कहा कि भारत इस हालात से निपटने में चीन की पूरी मदद करने को तैयार है। आधिकारिक सूत्रों ने यहां रविवार को बताया कि प्रधानमंत्री मोदी ने चीनी राष्ट्रपति को खत लिखा है। खत में पीएम मोदी ने कहा कि जानलेवा कोरोना वायरस से निपटने को लेकर भारत जिनपिंग और चीन की जनता के साथ है। जिनपिंग को लिखे पत्र में मोदी ने चीन को कोरोना वायरस की चुनौती से निपटने के लिए भारत की मदद की पेशकश की है।



अपने खत में मोदी ने कोरोना वायरस से चीन में मौतों के लिए शोक संवेदना भी व्यक्त की है। प्रधानमंत्री ने चीनी राष्ट्रपति की इस बात के लिए भी सराहना की कि पिछले सप्ताह हुबेई प्रांत से करीब 650 भारतीयों को सुरक्षित बाहर निकालने में उन्होंने मदद की। अभी तक चीन में कोरोना वायरस के कारण 811 लोगों की मौत हो चुकी है और 37,198 लोगों के इसकी चपेट में आ जाने की पुष्टि हो चुकी है। चीनी अधिकारियों की ओर से जारी आधिकारिक आंक़़डों में यह बात कही गई है। कोरोना वायरस से सबसे अधिक प्रभावित हुबेई प्रांत हुआ है , लेकिन अब यह चीन के लगभग हर प्रांत में फैल चुका है। दुनिया के करीब 25 देशों में भी इसका असर देखा गया है। यही कारण है विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस जानलेवा वायरस को लेकर वैश्विक आपातकाल घोषिषत कर दिया है।

कई देशों ने अपने नागरिकों को बुलाया

कोरोना वायरस के कारण कई देशों ने चीन से अपने नागरिकों को वापस बुला लिया। साथ ही अपने नागरिकों को चीन नहीं जाने और वहां से सामान नहीं मंगाने की भी एडवाइजरी जारी की। भारत ने भी अपने नागरिकों के चीन जाने पर रोक लगाई है ताकि कोरोना वायरस को देश में आने से रोका जा सके।

एक समाचार एजेंसी को दिए इंटरव्यू में पिछले बुधवार को भारत में चीनी राजदूत सुन वेइडोंग ने कहा था कि चीन अपने यहां भारतीय नागरिकों की सेहत व सुरक्षा के लिए सूचना व समन्वय तंत्र को मजबूत करने को तैयार है। उन्होंने यह भी स्वीकार किया था कि कोरोना वायरस के कारण चीन की अर्थव्यवस्था पर कम समय के लिए असर हो सकता है। उन्होंने यह भी कहा कि चीन के पास अर्थव्यवस्था को डांवाडोल स्थिति से बचाने के पर्याप्त साधन हैं।

 

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here