सीएमओ ने सुरक्षित और प्रभावी कोविड-19 वैक्सीनेशन का दिया संदेश!

0
37

लोकजन टुडे।
देहरादून जिले में दूसरे चरण का कोविड-19 वैक्सीनेशन का कार्य शुरू हो गया है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से सुरक्षित और प्रभावी टीका संदेश दिया जा रहा है। अधिक से अधिक बुजुर्गो और लाभार्थी को टीका केन्द्रों पर टीका लगाकार कोविड लड़ाई में आगे आने की अपील की गई है। वैक्सीनेसन के लिए सरकारी और निजी चिकित्सालयों में केन्द्र बनाए गए है। टीकाकरण के लिए कोविड पोर्टल और आन स्पाट की भी व्यवस्था क गई है। लाभार्थी स्वयं जाकर पोर्टल पर अपना पंजीकरण कर सकते हैं।
बुधवार को मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा.अनूप डिमरी और जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. राजीव दीक्षित ने पत्रकारों से बातचीत में सुरक्षित टीका संदेश दिया। उन्होंने बताया कि स्वयं हम टीका लगाए है हल्की बुखार तक नही आई। सुरक्षित और प्रभावी टीका है। इसलिए हर लाभार्थी टीकाकरण के लिए आगे आए।
उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य विभाग केन्द्र की जारी गाइडलाइन के अनुसार कोरोना बचाव को लेकर आमजन के हित में हर बेहतर कदम उठा रहा है। वैक्सीनेसन को लेकर किसी भी प्रकार का भ्रम और मिथ्या में नहीं आना है।
सीएमओं डिमरी ने बताया कि दूसरे चरण के लिए 60 वर्ष से अधिक की आयु के सभी प्रकार की नागरिकों टीका को लगा सकते हैं वहीं 45 से 59 आयु के 20 चिन्हित बीमारियों के चिकित्सक प्रमाणपत्र को प्रस्तुत करना होगा। इसके अलावा हेल्थ और फ्रंट लाइन के छूटे वर्कर को भी इस चरण में टीका लगाया जा रहा है। देहरादून में कुल लाभार्थियों के अनुमानित जनंसख्या के 20 (04 लाख)प्रतिशत रखा गया है।
उन्होंने बताया कि एक मोबाइल से चार सदस्यों का पंजीकृत किया जा सकता है। लाभार्थी को ज्यादा दिक्कत होने पर आन स्पाट टीका केन्द्र पर अपने प्रमाणपत्र और मोबाइल को साथ ले जाकर साथ पंजीकरण करा सकते हैं।
उन्होंने बताया कि जनपद में दूसरे चरण के तहत 2696 लोगों का टीकाकरण हो चुका हैं। टीकाकरण की व्यवस्था सरकारी और निजी दोनों चिकित्सालयों में की गई है। सरकारी में निशुल्क और प्राइवेट में 250 रुपये का टीका लगाने का शुल्क देना होगा। सत्पहा में चार दिन सोमवार,मंगलवार, गुरुवार और शुक्रवार को चिन्हिृत केन्द्रों पर जाकर टीका लगाया जा सकता है।
सीएमओ ने बताया कि देहरादून में कोरोना संक्रमित मरीजों की अबतक कुल 963 की हुई है। जिसमें 939 का अडिट किया गया है। उन्होंने बताया कि 165 मरीज ही ऐसे है जिनका कोविड ​बीमारी से मौत हुई है। उसमे से 74 अन्य जिलों से संबंधित है जबकि 91 देहरादून जनपद के है।