भारत चीन बॉर्डर पर शहीद हुए सैनिकों को कांग्रेस जनों ने श्रद्धांजलि अर्पित की…

0
14

रिपोर्ट: सुभाष राणा

नई टिहरी:  कांग्रेस अध्यक्ष देवेन्द्र नौडियाल(मोनू) ने कहा कि भारत चीन युद्ध के बाद पहली बार बॉर्डर पर ऐसी परिस्थिति पैदा हुई है की इतनी संख्या में हमारे जांबाज जवान शहीद हुए हैं। यह निश्चित रूप से सरकारों की नाकामी को साबित करता है।

उन्होंने कहा की सरकार के कुछ चाटुकार कह रहे हैं कि सैनिकों की गलती से यह घटना हुई।ऐसे बयान सीमा पर जान की बाजी लगाने वाले हमारे रक्षकों का घोर अपमान है।इससे उनका मनोबल भी कम होता है। महिला कांग्रेस जिलाध्यक्ष दर्शनी रावत ने कहा 5 मई से ही केंद्र सरकार भारत-चीन बॉर्डर के हालात पर कुछ भी बोलने से इनकार करती रही है। वे देशवासियों से LAC की वास्तविक स्थिति को छिपाने की कोशिश कर रहे हैं।

कल हमारे 20 बहादुर सैनिक सहित 1 कर्नल वीरगति को प्राप्त हुए हैं।इससे यह साबित होता है कि सरकार द्वारा जो बात कही जा रही थी की चीनी सैनिक भारतीय सीमा में नहीं आए हैं। यह सरासर झूठ था।यदि चीनी सैनिक भारतीय सीमा में नहीं घुसे होते तो उनको खदेड़ने के लिए भारतीय जवानों कि उनसे झड़प ना होती और हमें अपने जवानों की शहादत न देखनी पड़ती।

युवा कांग्रेस टिहरी विधानसभा के अध्यक्ष नवीन सेमवाल ने कहा एक तरफ तो सरकार चीन की कंपनियों को बड़े-बड़े टेंडर दे रही है और दूसरी तरफ आत्मनिर्भरता की बात कह रही है।उल्टा चीन इन सारी चीजों को दरकिनार करते हुए सीमा पर अघोषित युद्ध जैसी स्थिति पैदा कर रहा है।

वक्ताओं ने कहा कि हद तो तब हो गई जब सरकार के कुछ चाटुकारों द्वारा बहादुर भारतीय सेना पर ही दोष को स्थानांतरित करने की कोशिश हो रही है।चीन की ऐसी हरकत पर सरकार जो भी ठोस कदम उठाएगी,कांग्रेस उसका पूर्ण समर्थन करेगी।देश अपने सैनिकों की इस तरह से हो रही शहादत पर चुप नहीं रह सकता। शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करने वालों में उपरोक्त के अलावा सभासद सतीश चमोली,महिला सेवादल जिलाध्यक्ष श्रीमती आशा रावत,पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष एवं पूर्व प्राधन सोहनवीर सजवाण,पूर्व प्रदेश सचिव पंकज रतूड़ी,शहर कांग्रेस उपाध्यक्ष धनी राम नौटियाल शामिल थे।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here