COVID-19: Coronavirus को मिला आधिकारिक नाम, चीन में 1110 तक पहुंचा मौत का आंकड़ा….

0
33

LokJan Today(China): विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने मंगलवार को कहा कि घातक कोरोना वायरस का आधिकारिक नाम ‘कोविड-19’ होगा। डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक टेड्रोस अदनोम ने जेनेवा में संवाददाताओं को यह जानकारी दी। उन्होंने नाम की व्याख्या करते हुए कहा कि ‘को’ का मतलब ‘कोरोना’, ‘वि’ का मतलब ‘वायरस’ और ‘‘डी’’ का मतलब ‘‘डिसीज’’ (बीमारी) है।

वायरस पर डब्ल्यूएचओ की बैठक

कोरोना वायरस को लेकर डब्ल्यूएचओ की मंगलवार से जेनेवा में दो दिनी बैठक शुरू हुई। इस बैठक में वायरस से निपटने के लिए दवाओं, जांच और वैक्सीन के विकास में तेजी लाने पर चर्चा चल रही है। डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक टेड्रोस अदनोम ने बैठक में शामिल 400 से ज्यादा शोधकर्ताओं से कहा, ‘चीन में 99 फीसद मामले सामने आने से ना सिर्फ इस देश बल्कि बाकी दुनिया के लिए गंभीर खतरा पैदा हो गया है।’

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने चीन में फैले कोरोना वायरस से दुनिया को गंभीर खतरा बताया है। चीन में इस रहस्यमय वायरस की चपेट में आकर जान गंवाने वालों की संख्या एक हजार के पार हो गई है। अब तक 42 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित पाए जा चुके हैं। चीन की सरकार ने कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित हुबेई प्रांत के दो वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारियों को बर्खास्त कर दिया है। इसी प्रांत की राजधानी वुहान से पूरे चीन समेत दुनिया के 20 से ज्यादा देशों में वायरस फैल चुका है।

चीन के एक विशेषज्ञ का कहना है कि कोरोना वायरस के मामलों में कमी आ रही है, लेकिन उसका प्रभाव अप्रैल से पहले खत्म होने की उम्मीद नहीं है। वहीं, विश्व बैंक ने कहा है कि इस बीमारी से लड़ने के लिए वह चीन को कर्ज देने के प्रस्ताव पर विचार नहीं कर रहा। चीन अपने संसाधनों के दम पर ही इस बीमारी से लड़ने में सक्षम है। चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग के अनुसार, कोरोना वायरस की चपेट में आकर दम तोड़ने वालों की संख्या बढ़कर 1,017 हो गई है। 2,478 नए मामले सामने आए हैं, जिन्हें मिलाकर संक्रमित लोगों का आंकड़ा 42,708 हो गया है।

सरकारी प्रसारक सीसीटीवी ने सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी की हुबेई इकाई के हवाले से बताया कि राज्य में पार्टी के स्वास्थ्य आयोग के प्रमुख झांग जिन और निदेशक लियू यिंगजी को सोमवार को बर्खास्त कर दिया गया। कोरोना वायरस से निपटने में असमर्थता को लेकर राज्य के अधिकारियों पर दबाव बढ़ता जा रहा है। वायरस की सबसे पहले चेतावनी देने वाले वुहान के डॉक्टर ली वेनलियांग की गत गुरुवार को हुई मौत के बाद लोगों ने सोशल मीडिया पर अपनी नाराजगी जाहिर की थी। ली ने जनवरी के शुरू में ही वायरस की चेतावनी दी थी, लेकिन उस समय पुलिस ने उनकी चेतावनी को अफवाह मानकर उन्हें कार्रवाई की धमकी दी थी। मामला सामने आने के बाद सरकार ने जांच का आदेश दिया था।

हांगकांग में खाली कराई गई 35 मंजिली इमारत

हांगकांग में कोरोना वायरस के चलते 35 मंजिली इमारत के एक ब्लॉक को खाली कराया गया है। इस ब्लॉक में 100 से ज्यादा लोग रहते थे। दो लोगों में वायरस की पुष्टि होने पर पूरे ब्लॉक को खाली करा लिया गया। इन लोगों को दूसरे स्थान पर सबसे अलग रखा गया है। चीन के नियंत्रण वाले हांगकांग में कोरोना वायरस के अब तक 42 मामले सामने आ चुके हैं।

 

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here