जिले में सुई चोरी ना होने का दावा करने वाली जिला पुलिस मुख्यालय कार्यालय से ही कंप्यूटर से डाटा चोरी हो गया।

 

रुद्रपुर। आज जो खबर हम आपको बताने जा रहे हैं वह वाकई में कुछ अलग नहीं बल्कि बिल्कुल अलग है, अगर कोई आप से कहे कि पुलिस के घर में पुलिस वालों ने ही कराई चोरी तो क्या कहेंगे आप.. सुनकर हो गए ना कान खड़े…  आखिर क्या पुलिस भी चोर हो सकती है और हां एक बात और जब जिले के कप्तान को भी पता चल जाए की चोरी उसी के घर में हुई है और चोरी करने वाला और कोई नहीं है बल्कि उसी के अधीनस्थ कर्मचारी के सहयोग से पूरा खेला खेला गया हो तो क्या होगा जनाब जरा सोचिए… यह चल क्या रहा है जिला उधम सिंह नगर में..

अभी कुछ दिनों पहले की बात है एसएसपी कार्यालय से कंप्यूटर से डाटा चोरी किया गया..सूत्रों की माने तो कोविड-19 का डाटा एसएसपी कार्यालय से कोई और नहीं बल्कि पूर्व में रहे एक कप्तान द्वारा रखे गए वॉलिंटियरस जो अच्छे कार्यों के लिए रखे गए थे उन्हीं में से एक प्राइवेट वॉलिंटियर से पेन ड्राइव में एसएसपी कार्यालय किसके कहने पर डाटा ट्रांसफर करके ले गया सूत्रों की माने तो सिडकुल की एक फैक्ट्री में काम करने वाले ने इस पुलिस विभाग के लिए काम करने वाले वॉलिंटियर ने किसी को फायदा पहुंचाने के लिए कोविड-19 का डाटा पेन ड्राइव में कॉपी करके अपने कौन से हजूर ए आला को पहुंचा दिया। यह ऐसा बड़ा सवाल है जो शायद किसी के गले से नहीं नीचे उतर रहा है,

सबसे बड़ा सवाल यह उठता है कि उधम सिंह नगर जनपद की पुलिस जहां दावा करती है कि आपकी सुरक्षा में हम सदैव तत्पर हैं और आपके घर से एक सुई भी चोरी नहीं हो सकती ऐसे में पुलिस जिला पुलिस मुख्यालय कार्यालय से कंप्यूटर का डाटा चोरी हो जाना पुलिस की कार्यप्रणाली और पुलिस के दावों की पोल खोलता दिखाई दे रहा है…  लेकिन यह जरूर है कि जल्द ही लोकजन टुडे उस चोर का भी खुलासा करेगा वही इस पूरे मामले में एसएसपी ऊधम सिंह नगर दलीप सिंह कुंवर ने लोकजन टुडे संवाददाता राजीव से हुई बातचीत में बताया डाटा ट्रांसफर मामले में गोपनीय स्तर पर जांच कराई जा रही हैं।