सीआईयू सिपाही नितिन की चतुराई के कारण नौ साल से फरार इनामी बदमाश गिरफ्तार

0
113

रिपोर्ट: करन सहगल

रुड़की: गंगनहर पुलिस को आज उस वक्त बड़ी सफलता हासिल हुई जब 9 साल से फरार चल रहे आरोपी को गंगनहर पुलिस ने हरियाणा से गिरफ्तार किया है। आरोपी में 2500 का इनाम घोषित था।

आरोपी ने 2011 में अपने चार अन्य साथियों के साथ एटीएम बदलकर आठ लाख रुपए की घटना को अजाम दिया था। इस खुलासे में अहम भूमिका निभाने को एसपी देहात ने गंगनहर कोतवाली के दरोगा प्रमोद कुमार व सीआईयू सिपाही नितिन की सुरागरसी(इनटेलिजेन्स) को लेकर विशेष रूप से पीठ थपथपाई है।

रुड़की सिविल लाइंस कोतवाली में घटना का खुलासा करते हुए एसपी देहात एसके सिंह ने बताया 25 मई 2011 को बाकरपुर लक्सर निवासी जगपाल सिंह की तहरीर पर एटीएम बदलकर 8 लाख रुपए निकालने का मुकदमा दर्ज किया गया था। जांच के दौरान रोहित पुत्र बलवान सिंह, गोविंद पुत्र गुणानंद ,विजय पुत्र राजपाल सिंह, अंकित पुत्र राजपाल सिंह सभी निवासी दिल्ली और राजवीर पुत्र रामेश्वर निवासी खिदवली थाना सदर रोहतक हरियाणा द्वारा घटना को अंजाम देना प्रकाश में आया था।

घटना का खुलासा करते हुए पुलिस ने राजवीर के अलावा अन्य चारों लोगों को गिरफ्तार कर लिया था वही राजवीर तब से फरार चल रहा था पुलिस ने इसके के ऊपर 2500 का इनाम घोषित किया हुआ था। गंगनहर पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर राजवीर को उसके आवास ग्राम कद खिदवली रोहतक से गिरफ्तार किया है।

आरोपी को पकड़ने वाली टीम में गंगनहर कोतवाली प्रभारी निरीक्षक मनोज मेनवाल,वरिष्ठ उप निरीक्षक देवराज शर्मा, उप निरीक्षक प्रमोद कुमार, कांस्टेबल बृजपाल सिंह शामिल रहे। वहीं सीआईयू टीम में उप निरीक्षक नंदकिशोर बचकोटी, कांस्टेबल अशोक, रविंद्र खत्री, नितिन और महिपाल शामिल रहे। इस खुलासे में अहम भूमिका निभाने को एसपी देहात ने गंगनहर कोतवाली के दरोगा प्रमोद कुमार व सीआईयू सिपाही नितिन की विशेष रूप से पीठ थपथपाई है। उन्होंने कहा कि यूं तो टीम वर्क के बिना कोई काम नही होता,अतः पूरी टीम बधाई की पात्र है। किंतु इस मामले में दरोगा प्रमोद कुमार व सिपाही नितिन की सुरागरसी विशेष रूप से सराहनीय है।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here