पौड़ी में बर्ड फ्लू की दस्तक होने से जिला प्रशासन की उड़ी नींद…

0
14

रिपोर्ट-मुकेश बछेती

पौड़ी-पौड़ी जिले में बर्ड फ्लू की दस्तक होने से यहां जिला प्रशासन सख्ते में हैं। यहां कोटद्वार क्षेत्र में कुछ दिन पूर्व ही दो मृत कवों में ऐवियन ईन्फ्लूयेंजा का पुष्टी हुई है,जिससे जिला प्रशासन की नींद उडा दी है।

इन मामलो के प्रकाश में आने से प्रशासन हैरत में है। ऐतियात के तौर पर अब जिलाधिकारी पौड़ी धीराज सिंह गब्र्याल ने बर्ड फ्लू की रोकथाम को लेकर पूरे जिले में ही प्रशासन की टीम का गठन कर लिया है। जो कि अब चप्पे चप्पे पर अपनी पैनी नजरें रख कर बर्ड फ्लू की घटनाओं पर निगाहें रखेगी।

जिलाधिकारी ने पशुपालन विभाग और वन विभाग को भी निर्देशित किया है कि वे अभी से बर्ड फ्लू से बचने के लिये प्रभावी कदम उठायें और किसी भी मामले के प्रकाश में आने पर इसकी सूूचना उन तक पहुंचायें। वहीं अब तक पक्षीयों के पाया गया बर्ड फ्लू इंसान के शरीर में प्रवेश न कर पाये इसके लिये जिलाधिकारी ने बाहरी जनपद और शहरों से चिकन शाॅप तक पहुंचने वाले मुर्गो की एंट्री और इनके अंण्डो की एंट्री पर प्रतिबंध लगा दिया है। वहीं कोटद्वार के जिस क्षेत्र में मृत कवें मिले उस क्षेत्र के 10 किलोमीटर की परधि में पोल्ट्री व अण्डो की दुकान बंद रखने के भी निर्देश जारी कर दिये गये हैं जिससे बर्ड फ्लू इस कोरोना काल में प्रशासन की दिक्कतो को और न बढा पायें। जिलाधिकारी ने बताया कि बर्ड फ्लू पर अधिकारी कर्मचारी किसी तरह की कोताही न बरते।