रेणी गाँव से श्रीनगर तक सर्चिग में लगी SDRF की आठ टीमें

0
17

चमोली: जोशीमठ के रैणी तपोवन क्षेत्र में ग्लेशियर टूटने से आई आपदा का आज पाँचवा दिन है। SDRF की 8 टीमों सहित अनेक रेस्कयू अभियान में सम्मलित हैं। रेस्कयू कार्य के साथ ही SDRF द्वारा रेणी गावँ से लेकर श्रीनगर तक सर्चिंग कार्य किया जा रहा है। सर्चिंग कार्य के लिए सेनानायक SDRF नवनीत सिंह भुल्लर द्वारा SDRF की आठ टीमो का गठन किया गया है।

वर्तमान में SDRF उत्तराखंड पुलिस की 8 टीमें सर्चिंग कार्य कर ही है, समय की महत्व को देखते हुए और सर्चिंग को गति देने के लिए ड्रोन ओर मोटरवोट से भी सर्चिंग की जा रही है। SDRF डॉग स्क्वार्ड टीम भी मौके पर पहुँची है। सभी संभावित स्थानों में सर्चिंग की जा रही है अलकनन्दा के तटों पर बायनाकुलर से भी सर्च अभियान जारी है। SDRF फ्लड टीम द्वारा श्रीनगर जलभराव क्षेत्र में सोनार सिस्टम द्वारा भी सर्चिंग की जा रही है। वर्तमान समय तक रेस्कयू बलों के द्वारा 34 शवों को सर्च कर लिया है, अभियान जारी है।

वही पुलिस अधीक्षक चमोली यशवंत सिंह चौहान के अतिरिक्त 04 पुलिस उपाधीक्षक, 03 निरीक्षक, 18 उपनिरीक्षक, 04 सहायक उपनिरीक्षक, 03 हेड कॉन्स्टेबल, 37 कॉन्स्टेबल, 01 महिला कॉन्स्टेबल, कुल 71 पुलिसकर्मी जिला पुलिस के साथ-साथ कोतवाली जोशीमठ का समस्त पुलिसबल, एक प्लाटून PAC,

70 SDRF के जवान,
129 NDRF के जवान,
425 ITBP के जवान,
114 आर्मी के जवान, 16 नौसेना के जवान, 02 वायुसेना के जवान, 01 टीम SSB व स्वास्थ्य विभाग की 04 मेडिकल टीमें राहत एवं बचाव कार्यों में लगी है।

इसके अतिरिक्त अलकनंदा नदी के तटीय क्षेत्रों में पढ़ने वाले थाना/चौकी के पुलिस कर्मियों/फायर सर्विस/SDRF/SSB की टीमों द्वारा अलग-अलग क्षेत्र में नदी किनारे सर्च अभियान चलाया जा रहा है।