पूर्व सैनिकों में चाइना के खिलाफ बड़ा उबाल,चीन के राष्ट्रपति का पुतला फूंक कर चीन को चेताया..

0
15

रिपोर्ट: सलमान मलिक

रुड़की: भारत और चीन के बीच विवाद को देखते हुये भारत में चाइना के खिलाफ विरोध प्रदर्शन लगातार देखने को मिल रहा है। रूड़की में भी पूर्व सैनिकों में भारी रोष है जिसको लेकर पूर्व सैनिकों ने चीन के राष्ट्रपति का पुतला फूंक कर अपना रोष जताया है।

आपको बता दे कि लद्दाख पूर्वी गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक टकराव के दौरान भारत के 20 जवान शहीद हो गए हैं। जिसे पूर्व सैनिकों ने कायरतापूर्ण करार दिया है। देश के जवानों पर चोरी छिपे हमला करने वाले चाइना पर पूर्व सैनिकों ने अपना गुस्सा दिखाया है।

रूड़की के बूचडी फाटक पर शिव चौक पर दर्जनों पूर्व सैनिकों ने चीन के राष्ट्रपति का पुतला फूंक कर चीन को चेताया है। भारत के शहीद के सैनिकों को भी श्रद्धांजलि दी है। इस दौरान पूर्व सैनिकों में भारी रोष देखने को मिला। पूर्व सैनिक जीवानंद बूडाकोटि ने कहा कि यदि सरकार जंग का ऐलान कर उन्हें बॉर्डर पर भेजे तो उनके सभी पूर्व सैनिक लड़ाई लड़ने को तैयार है और धोखेबाज चायना के सैनिकों के परखच्चे उड़ा कर अपने शहीद हुए वीर जवानों का बदला लेंगे।

उन्होंने चाइना को चेतावनी देते हुए कहा कि भारतीय सैनिकों को गुस्सा मत दिलाओ वर्ना तेरा सर्वनाश हो जाएगा। उन्होंने सरकार से गुजारिश की चाइना के साथ आर पार की लड़ाई कर मुँह तोड़ जवाब दे पूरा देश सरकार के साथ है। पूर्व सैनिक राकेश भट्ट ने कहा कि चायना के द्वारा बनाए गए सामानों का पूरा भारत बहिष्कार करे और अपने देश के सामानों को ही खरीदकर इस्तेमाल करें। आज के हालातों को देखकर पूरे पूर्व सैनिकों का खून खोल रहा है। साथ ही साथ उन्होंने अनुरोध किया कि हमारे देश का सैनिक बॉर्डर पर चाइना को जवाब दे रहा है तो हमारा भी फर्ज बनता है कि हम भी चाइना के सामान का पूर्ण रूप से बहिष्कार कर अपने सैनिकों का समर्थन करें।

 

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here