चमोली आपदा में लापता अंजेश के इंतजार में रोते रोते बीत गए चार दिन, परिजनों को अभी भी इंतजार

0
24

रिपोर्ट: सलमान मलिक

रूड़की: बीती 7 फरवरी को चलोमी जिले के तपोवन क्षेत्र में हुए जलप्रलय के बाद कई लोग लापता है जिसको लेकर रेस्क्यू जारी है। इस आपदा में कई लोग अपनी जिंदगी गवा चुके है और कई लोग अभी भी लापता है, जिनकी लताश में लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है।

वही इस आपदा में रुड़की का एक युवक भी लापता है। जिसको लेकर परिवार में मातम का माहौल छाया हुआ है। उक्त युवक पिछले एक साल से निर्माणाधीन बांध में टर्नल के अंदर जेसीबी चलाने का कार्य करता था। परिजनों का कहना है कि युवक से 6 फरवरी को बात हुई थी और 7 फरवरी को सन्डे होने के कारण छुट्टी थी लेकिन कुछ समय के लिए वो टर्नल में जीसीबी को साइड करने के लिए गया था तभी ये सैलाब आगया, और तभी से वह लापता है।

आपको बता दे 7 फरवरी को उत्तराखंड के चमोली जिले में ग्लेशियर टूटने की घटना के बाद हुए जलप्रलय में कई लोग लापता है। वही रुड़की के सोहलपुर गांव का युवक अंजेश जो पिछले एक साल निर्माणाधीन बांध में टर्नल के अंदर जेसीबी चालक था। इस हादसे का शिकार हुआ है और तभी से लापता है। युवक के लापता होने के बाद के बाद से परिजन परेशान है। परिजनों का कहना है 6 फरवरी को युवक से बात हुई है। और 7 फरवरी को सन्डे होने के कारण उसकी छुट्टी थी। लेकिन कुछ समय के लिए वो टर्नल में जेसीबी को साइड करने गया था। तभी ये घटना हो गई और सैलाब आ गया।

परिजनों का कहना है कि तभी से अंजेश लापता है और उससे कोई सम्पर्क नही हो पाया। परिजनों ने बताया 14 मार्च को अंजेश कि बड़े भाई की शादी होनी है घर मे खुशियों का माहौल चल रहा था लेकिन घटना के बाद से ही मातम का माहौल छाया हुआ है। बता दे कि जलप्रलय के बाद लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है, लापता लोगो मि तलाश की जा रही है, कुछ लोगो को सुरक्षित तलाश भी किया जा चुका है। फ़िलहाल अंजेश के परिजन लापता अंजेश के लिए भगवान से सकुशल मिलने की प्राथना कर रहे है।