अंकिता भंडारी के समर्थन में जनता में उबाल nh-58 जाम सड़कों पर उतरी भारी भीड़ शासन-प्रशासन नाकाम

0
399
Your browser does not support the video tag.

श्रीनगर मैं अंकिता भंडारी को न्याय दिलाने को लेकर जनता सड़कों पर उतर आई है सुबह 11:30 बजे से भारी भीड़ ने nh-58 को जाम कर दिया है पुलिस प्रशासन भीड़ को समझा पाने में नाकाम साबित हो रहा है बस भीड़ की यही मांग है कि आरोपियों को फांसी दो

अंकिता भंडारी को न्याय दिलाने को लेकर पूरे उत्तराखंड में आज भारी रोष है पौड़ी जनपद के श्रीनगर में आज सुबह 8:00 बजे अंकिता भंडारी का अंतिम संस्कार होना था लेकिन अंकिता भंडारी के पिता के मना करने के कारण अंतिम संस्कार नहीं हो पाया धीरे धीरे श्रीनगर मेडिकल कॉलेज में जहां अंकिता भंडारी का शव रखा गया है भीड़ इकट्ठा होने लगी 11:00 बजे तक भारी भीड़ ने nh-58 को जाम कर दिया

जब तक प्रशासन पुलिस  कुछ समझ पाती तब तक देर हो चुकी थी यदि पुलिस और प्रशासन पहले ही समझ जाता तो इतनी भारी भीड़ इकट्ठा नहीं हो पाती अब आलम यह है कि लगभग 4 घंटे से अधिक समय से nh-58 पूरी तरह से ब्लॉक हो गया है जिला अधिकारी स्वयं भीड़ को समझा पाने में नाकाम साबित हो रहे हैं । भीड़ का गुस्सा और उबाल इस हद तक बढ़ गया है कि अंकिता के माता और पिता भी अब भीड़ को नहीं समझा पा रहे हैं।