कोरोना काल में जहां नागरिकों को अस्पताल में इलाज मिलना चाहिए, वहां उनकी अव्यवस्थाओं के चलते मृत्यु हो रही: देशबंधु रावत

0
25

रिपोर्ट: कार्तिक बिष्ट

रामनगर: कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष रामनगर देशबंधु रावत के नेतृत्व में कोरोना काल में सरकारी अवस्थाओं से नागरिकों की असमय मृत्यु व हो रही परेशानी की जांच करने व अव्यवस्थाओं को दूर करने के निर्देश एवं मृतक को 10 लाख रुपए मुआवजा दिलवाने हेतु रामनगर उप जिलाधिकारी के माध्यम से राज्यपाल महोदया को ज्ञापन भेजा।

देशबंधु रावत ने कहा कि रामनगर गुल्लरघट्टी निवासी रईस अहमद सुशीला तिवारी अस्पताल में कोरोना के कारण भर्ती थे। अस्पताल प्रशासन ने यह खबर प्रकाशित की, कि रईस अहमद अस्पताल से फरार हो गए। लेकिन रईस अहमद सुशीला तिवारी अस्पताल के शौचालय में मृत अवस्था में पाए गए।

रईस अहमद की मृत्यु सुशीला तिवारी अस्पताल की लापरवाही की वजह से हुई है। मृतक अपने परिवार का भरन पोषण करने वाला मुखिया था। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में जहां नागरिकों को अस्पताल में इलाज मिलना चाहिए था वहां उनकी अव्यवस्थाओं के चलते मृत्यु हो रही है।

देशबंधु रावत ने कहा कि मृतक रईस अहमद के परिवार जनों को 10 लाख रुपये का मुआवजा तत्काल दिलवाया जाए तथा लापरवाही में लिप्त सुशीला तिवारी अस्पताल की उच्चस्तरीय जांच कराई जाए। तथा दोषियों को कड़ी सजा दिलाई जाए। जिससे नागरिकों का शासन और प्रशासन में विश्वास बना रहे।

ज्ञापन देने वालों में ब्लॉक अध्यक्ष मालधन ओम प्रकाश, अतुल अग्रवाल, ताईफ खान, लईक अहमद, बाबर खान, महेंद्र आर्य,विनय पडलिया आदि लोग मौजूद रहे।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here