Inside Story: क्या लुटेरे तय करेंगे तीन थानेदारो के थाने की कमान!

0
258
फ़ाइल फोटो लोकजन टुडे..

देहरादून लूट कांड को हुए आज कई दिन बीत चुके हैं लेकिन आज भी पुलिस के हाथ खाली है… डीआईजी अरुण मोहन जोशी काफी संजीदगी के साथ इस लूटकाण्ड को खोलने की जुगत में लगे हैं… विगत हो कि गोली मारकर सुनार को लूटने की घटना ने पूरे पुलिस विभाग में हड़कंप मचा दिया था जबकि डीआईजी ने व्यापारियों को सुरक्षा को लेकर पहले से आगाह भी किया था बावजूद इसके किसी व्यापारी ने भी इसे संजीदगी के साथ नहीं लिया… इसके बाद जिस बात का डर था उस घटना का घट जाना पुलिस के लिए ही सिरदर्द बन गया… पुलिस सूत्रों के अनुसार लुटेरों की तलाश में कई टीमों को पड़ोसी राज्य में भेजा गया है वही सीसीटीवी फुटेज की बात करें तो पुलिस को कुछ क्लू भी मिले हैं सूत्र तो यह भी बताते हैं कि लुटेरे किस रास्ते से भागे थे और अपनी मोटरसाइकिल कहां लावारिस हालत में छोड़ी, पुलिस को सब कुछ पता चल चुका है लेकिन इस कहानी में ट्विस्ट तब आ जाता है जब मोटरसाइकिल की हिस्ट्री पता करने पर पता चलता है कि घटनाक्रम में यूज़ की गई मोटरसाइकिल तो चोरी की है जैसे इस बात का खुलासा हुआ पुलिस भी चौकन्नी हो गई.. सूत्र बताते हैं कि इसी क्लू को आधार मानते हुए पुलिस की एसओजी टीम पश्चिम उत्तरप्रदेश प्रदेश में डेरा डाले हुए हैं.. सूत्रों की बातों पर अगर इतनी यकीन किया जाए तो इन लुटेरों के पकड़े जाने के बाद दो से तीन थानेदारों की गद्दी खतरे में आ जाएगी क्योंकि सूत्र बताते हैं डीआईजी ने बड़ी शक्ति के साथ अपने मातहतों को यह संदेश दिया था कि अगर लुटेरे जिस रोड मैप से भागे हैं उस में आने वाले थानेदारों की जिम्मेदारी सुनिश्चित की जाएगी तो क्या यह मान लिया जाए कि लुटेरे को पकड़े जाने के बाद  दून के तीन थानेदारों की नई नियुक्ति पुलिस लाइन में होगी?

 

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here