कारगिल दिवस: उत्तराखंड के 75 जांबाजों ने किया था अपना सर्वस्व न्यौछावर…

0
26

देहरादून: जब-जब देश की आन-बान पर कोई संकट आया तब तब उत्तराखंड के जाबांजों ने देश की रक्षा के लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर किया। यही वजह है कि जब भी जवानों की शहादत को याद किया जाता है तो उत्तराखंड के वीरों के अदम्य साहस के किस्से हर जुबां पर होते हैं।

बात करें वर्ष 1999 के करगिल युद्ध की तो यहां भी उत्तराखंड के जाबांज सबसे आगे खड़े मिले। करगिल युद्ध में उत्तराखंड के 75 जवानों ने देश की रक्षा करते हुए अपने प्राणों की आहूति दी थी। इनमें 37 जवान ऐसे थे जिन्हें युद्ध के बाद उनकी बहादुरी के लिए पुरस्कार भी मिला था।

ये है चक्र विजेता…

महावीर चक्र विजेता : मेजर विवेक गुप्ता, मेजर राजेश अधिकारी।

वीरचक्र विजेता: कश्मीर सिंह, बृजमोहन सिंह, अनुसूया प्रसाद, कुलदीप सिंह, एके सिन्हा, खुशीमन गुरुंग, शशिभूषण घिल्डियाल, रुपेश प्रधान व राजेश शाह।

सेना मेडल विजेता: मोहन सिंह, टीबी क्षेत्री, हरि बहादुर, नरपाल सिंह, देवेंद्र प्रसाद, जगत सिंह, सुरमान सिंह, डबल सिंह, चंदन सिंह, मोहन सिंह, किशन सिंह, शिव सिंह, सुरेंद्र सिंह और संजय।

मैंस इन डिस्पैच :राम सिंह, हरिसिंह थापा, देवेंद्र सिंह, विक्रम सिंह, मान सिंह, मंगत सिंह, बलवंत सिंह, अमित डबराल, प्रवीण कश्यप, अर्जुन सेन, अनिल कुमार।

किस जनपद से कितने शहीद..

जनपद – शहीद जवान

  • देहरादून 28
  • पौड़ी 13
  • टिहरी 08
  • नैनीताल 05
  • चमोली 05
  • अल्मोड़ा 04
  • पिथौरागढ़ 04
  • रुद्रप्रयाग 03
  • बागेश्वर 02
  • ऊधमसिंह नगर 02
  • उत्तरकाशी 01

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here