गर्मी से निजात कहीं बन न जाए मौत का कारण..

0
58

रिपोर्ट: सलमान मलिक

रुड़की: शौंक अच्छी चीज है लेकिन अगर यही शौंक जानलेवा साबित हो जाए तो फिर इंसान किसी काम का नहीं रहता।

जी हां गर्मी अपने चरम पर है तो ऐसे में रुड़की के प्रमुख जगह पर या यूं कहें रुड़की नगर निगम पुल, पुराना पुल और गंगा ब्रिज व गंगनहर के घाटों पर आजकल छोटे-छोटे मासूम बच्चे कला बादियां खाते हुए नहर में छलांग लगा रहे हैं, जो कभी भी जानलेवा साबित हो सकती हैं। इन सबके बावजूद पुलिस प्रशासन हादसे का इंतजार कर रहा है। अगर पिछले कई सालों के रिकॉर्ड की बात करें तो दर्जनों ऐसी मौत गंगनहर में नहाते समय हुई है। कई जिंदगियां मौत की आगोश में खो गई लेकिन इसके बावजूद डेंजर जोन में छलांग लगाना अभी भी लगातार जारी है।

छोटे-छोटे मासूम बच्चे रुड़की नगर निगम पुल, पुराना पुल यही नहीं लोहे के ऊंचे पुल पर चढ़कर करीब 100 फिट की ऊंचाई से गंगनहर में छलांग लगाते देखे जा सकते हैं। हालांकि पुलिस अधिकारियों की माने तो इस समस्या के समाधान के लिए वह ततपरता के साथ कदम उठा रहे है।

आपको बता दे उमस भरी गर्मी से निजात पाने के लिए लोग तरह तरह के फार्मूले आजमा रहे है। कोई गंगनहर में डुबकी लगाकर गर्मी भगा रहा है, तो कोई घर में ही कैद रहक़र गर्मी से राहत पाने का जतन कर रहा है। इसी बीच रुड़की शहर में छोटे-छोटे मासूम बच्चे गंगनहर में छलांग लगाकर गर्मी को भगा रहे है। लेकिन हादसे को न्यौता दे रहे है। गंगनहर के तेज बहाव में कई जिंदगियां मौत की गहरी नींद सो चुकी है। बावजूद इसके बच्चो का पुल से छलांग लगाना ना तो उनके परिजनों को दिखता है और ना ही सम्बंधित अधिकारियों को तो कहना साफ़ होगा कि किसी बड़े हादसे का इंतेज़ार किया जा रहा है।

वहीं इस सम्बंध में रूडकी सिविल लाइन कोतवाली प्रभारी राजेश शाह ने बताया गंगनहर पर जलपुलिस की तैनाती की गई है। साथ साथ समय समय पर कार्यवाही की जाती है, उन्होंने बताया कुछ समय पूर्व ही उन्होंने ऐसे बच्चों को थाने में लाकर बैठाया था जो गंगनहर से छलांग लगा रहे थे, बाद में उनके परिजनों को सख्त चेतावनी देते हुए उनके सुपुर्द किया गया था।

 

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here