कुख्यात को जान का खतरा,परिजनों ने लगाई इंसाफ की गुहार

0
35

रिपोर्ट: सलमान मलिक

रुड़की: रुड़की उपकारागार में कैदी की बेरहमी से पिटाई और उसके बाद कैदियों के हंगामे की वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के मामले में अब नया मोड़ आ गया है। जेल में बंद कुख्यात चीनू पंडित के परिजनों ने इस प्रकरण को षड्यंत्र का नाम देते हुए उसकी की जान को खतरा बताया है।

परिजनों का आरोप है जेल प्रशासन षड्यंत्र रचकर जेल में बन्द चीनू पंडित को रुड़की से कही और जेल में शिफ़्ट करना चाहते हैं, जबकि चीनू पंडित पर पहले भी हमला हो चुका है। परिजनों का मानना है कि कुख्यात सुनील राठी और चीनू पंडित के बीच वर्चस्व की लड़ाई है, दोनों गुटों के बीच खूनी संघर्ष भी हो चुका है। ऐसे में चीनू पंडित को कही और जेल में शिफ्ट करना उसकी जान पर भारी पड़ सकता है।

आपको बता दे साल 2011 में जेलर हत्याकांड और वर्ष 2014 में राठी व चीनू गुट में गैंगवार को लेकर सुर्खियों में आई रुड़की जेल इन दिनों भी खूब चर्चाओं में है। इस बार चर्चाओं का कारण जेल की चारदीवारी के भीतर से वायरल हुआ वीडियो है, जिसमे एक कैदी की बेरहमी से पिटाई से गुस्साए कैदी जेल प्रशासन के ख़िलाफ़ नारेबाजी करते नजर आरहे है। वीडियो वायरल के बाद जेल प्रशासन में हड़कम्प मचा हुआ है। बताया जा रहा है कि उक्त प्रकरण में प्रशासन रुड़की जेल में बन्द कुख्यात चीनू पंडित को कही और जेल में शिफ्ट करने की तैयारी कर रहा है।

जानकारी मिलने पर कुख्यात चीनू पंडित की माँ व पूर्व पार्षद शशि शर्मा व उसके भाई शगुन पंडित ने अपने आवास पर प्रेस वार्ता कर जेल में बन्द कुख्यात चीनू पंडित की जान को खतरा बताया है। उन्होंने जेल प्रशासन पर षड्यंत्र का आरोप लगाते हुए कहा कि चीनू को कही और जेल में शिफ्ट करना उसकी जान पर आफत है, क्योंकि पूर्व में भी चीनू पर हमला हो चुका है। बता दे कि कुख्यात सुनील राठी और चीनू के बीच वर्चस्व की जंग है, ऐसे में कई मामले दोनों गुटों के प्रकाश में आते रहे है। अब जेल के अंदर का वीडियो वायरल प्रकरण में चीनू को कही और जेल में शिफ्ट करने का विरोध उसके परिजन कर रहे है। परिजनों का कहना है कि पहले उक्त प्रकरण की निष्पक्ष जांच हो तभी कोई एक्शन लिया जाए।

 

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here