उत्तराखंड के विकास में जापान के योगदान को लेकर तैयारियां…

0
10

LokJan Today(देहरादून): उत्तराखंड राज्य में विदेशी निवेशकों को ब़ढावा देने को लेकर अब उत्तराखंड सरकार, विदेशी इन्वेस्टरों को आमंत्रित करने की कवायत में जुटी हुई है। इसी सिलसिले में उत्तराखंड का एक डेलिगेशन, कृषि मंत्री सुबोध उनियाल और मुख्यसचिव उत्पल कुमार के नेतृत्व में जापान देश गया था। जहां उत्तराखंड एलिवेशन ने ना सिर्फ तमाम इन्वेस्टिंग से मुलाकात कर उत्तराखंड में इन्वेस्ट करने को लेकर आमंत्रित किया बल्कि टूरिज्म रोड शो का भी आयोजन किया।


जापान देश का दौरा कर वापिस लौटे मुख्य सचिव उत्पल कुमार ने बताया जापान में बहुत बड़ी संख्या में उत्तराखंड के लोग रहते हैं और उत्तराखंड के साथ उन लोगों का जुड़ाव अभी भी बना हुआ है और वह उत्तराखंड के विकास में अपना योगदान देना चाहते हैं।

यही नही जापान और उत्तराखंड में बहुत सारी समानताएं हैं। क्योंकि जब उत्तराखंड में इन्वेस्टर सम्मिट हुआ था, उस दौरान जापान देश, उत्तराखंड इन्वेस्टर सम्मिट में एक पार्टनर देश के रूप में भूमिका निभाई थी। और उस दौरान जापान के एम्बेसडर ने इच्छा जताई थी कि प्रदेश की संभावनाओ में जापान अपना योगदान दे सकता है।


जापान के 125 इन्वेस्टर्स से मिला उत्तराखंड डेलिगेशन…

उत्तराखंड के विकास में जापान के योगदान को लेकर तैयारियां चल रही थी, इसी सिलसिले में जापान दौरे के दौरान जापान के इन्वेस्टर्स के साथ मीटिंग की गई जिसमें करीब 125 इन्वेस्टर्स शामिल हुए थे। जिन्हें उत्तराखंड में उद्योगों की संभावनाओं एवं बढ़ावा देने संबंधित तमाम जानकारियां दी गई।

उत्तराखंड का दर्शन करवाने को लेकर हुई बात…

यही नहीं जापान में टूरिज्म रोड शो भी किया गया जिसमें करीब 50 से अधिक लोग शामिल हुए थे। वहीं टूरिज्म रोड शो में टूर एंड ट्रेवल के लोगों द्वारा इच्छा व्यक्त की गई की उन्हें उत्तराखंड कि अभी जानकारी नहीं है। लिहाजा जापान के कुछ टूर एंड ट्रेवल्स और ट्रैवल राइटर्स को उत्तराखंड का दर्शन करवाया जाए ताकि वह जापान के पर्यटकों को उत्तराखंड की खूबियों के बारे में बता सके।


जापान के प्रमुख संस्थाओं के पदाधिकारियों से हुई मुलाकात…

जापान में लोगों की काफी रुचि मिली हैं। इसके साथ ही जापान की जो प्रमुख संस्थाएं हैं जहां से उत्तराखंड राज्य को सहयोग मिल सकता है जैसे कि जायका, जेट्रो के उच्च अधिकारियों के साथ भी मुलाकात हुई। यही नहीं मेडिकल डिवाइसेज, मशरूम उत्पादन इसके साथ ही इलेक्ट्रिक व्हीकल, इलेक्ट्रिक बैटरी के क्षेत्र में रुचि है जिसे आगे ले जाने का प्रयास किया जा रहा है।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here