होम स्टे में अभी तक हुए 2200 होस्ट को रजिस्ट्रेशन…इतने का है लक्ष्य…

0
139

रिपोर्ट: कुलदीप रावत

LokJan Today(देहरादून): उत्तराखंड सरकार होम स्टे के चलते पर्यटन को लगातार बढ़ावा देने की ओर अग्रसर है। प्रदेश में अभी तक 2200 होमस्टे को रजिस्ट्रेशन दिया गया है। वहीं सरकार का लक्ष्य जल्द ही इस साल 5 हजार तक रजिस्ट्रेशन करवाने का है। जिससे उत्तराखंड में पर्यटकों को बेहतरीन सुविधाएँ तो मुहैया हो बल्कि उनकी सुरक्षा भी बनी रहे।


उत्तराखंड में पर्यटन की अपार संभावनाओं को देखते हुए उत्तराखंड सरकार होम स्टे के माध्यम से पर्यटकों को अपनी और खींचने का काम कर रही है। ऐसे में प्रदेश में होमस्टे का काम भी लगातार जारी है। जहां-जहां पर्यटकों की तादाद ज्यादा होती है, वहां सरकार होटलों और होम स्टे को बढ़ावा दे रही है।उत्तराखंड में अभी तक 2200 रजिस्ट्रेशन हो चुके हैं और इसी साल के अंदर 5 हजार और रजिस्ट्रेशन किए जाने हैं।



सरकार का इन होम स्टे को रजिस्ट्रेशन करवाने का महत्वपूर्ण कारण यह भी है कि प्रदेश में जो भी पर्यटक आते हैं। उनकी सुरक्षा और सुविधाओं की जानकारी वहां के जिलाधिकारी पुलिस प्रशासन को नियमित तौर पर मिलती रहे। जिससे कि उन्हें किसी भी प्रकार की दिक्कत न हो ऐसे में अगर कोई होमस्टे का रजिस्ट्रेशन नहीं करवाता है तो उसे एक्ट के तहत दंडित करने की कार्यवाही भी की जाएगी। साथ ही कई ऐसी जगह है जहां पर की टूरिस्ट बहुत ज्यादा आता है, लेकिन वहां पर ना तो उन्हें पार्किंग की व्यवस्था मिल पाती है और ना ही कोई अन्य सुविधाएं उसे रोकने के लिए सरकार टूरिज्म पॉलसी में संशोधन कर रही है ताकि टूरिज्म पॉल्यूशन के हालात वहां पर पैदा ना हों।

 

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here