रुद्रप्रयाग : पैर फिसलने से नदी के तेज बहाव में डूबी महिला,अभी तक कोई सुराग नहीं…

0
59

LokJan Today(रुद्रप्रयाग) : रूद्रप्रयाग में अलकनंदा और मंदाकिनी नदी के संगम स्थल पर एक महिला का पैर फिसलने से नदी के तेज बहाव में बह गई। जिसके बाद से महिला लापता चल रही है। पुलिस प्रशासन की टीम मौके पर है और गोताखोरों की मदद से महिला की भूमि खोज शुरू कर दी गई है।

जानकारी के मुताबिक नमिता पत्नी अनूप सिंह नेगी (33 वर्ष) निवासी गहङखाल बचणस्यू हाल रूद्रप्रयाग आज शाम को करीब 4:00 बजे संगम पर पूजा अर्चना के लिए गए थे। उनके साथ में उनकी पड़ोस में रहने वाली है एक लड़की भी थी। अलकनंदा और मंदाकिनी के नदी स्थल और गंगाजल भरते समय अचानक नमिता का पैर फिसल गया, जिस कारण वह नदी के तेज बहाव में लापता हो गई।

घटना के बाद स्थानीय लोगों ने पुलिस और प्रशासन को इसकी सूचना दी। मौके पर पहुंची कोतवाली पुलिस और एसडीएम सदर पहुंचे,साथ में गोताखोरों की टीम भी मौजूद है ।

महिला की नदी में तलाश की जा रही है लेकिन अभी तक महिला का कोई पता नहीं चल पाया है। बताया जा रहा है कि महिला के दो अबोध बच्चे हैं और पति जिला चिकित्सालय में कार्यरत है। आपको बताते चलें क्योंकि वर्ष 2013 की आपदा से संगम स्थल में भयानक त्रासदी मची थी,जिस कारण जहां तमाम सुरक्षा के उपाय बाढ़ की भेंट चढ़ गए थे। लेकिन तब से आज तक अलकनंदा मंदाकिनी के इस संगम स्थल पर सुरक्षा के कोई भी इंतजाम बात नहीं किए जा सके हैं।

वही सामाजिक कार्यकर्ता व जन अधिकार मंच के अध्यक्ष मोहित डिमरी ने कहा के स्थानीय लोगों के साथ-साथ देश विदेश के तीर्थ यात्री भी संगम स्थल पर पूजा अर्चना के लिए आते हैं।लेकिन नगर पालिका और जिला प्रशासन की लापरवाही के कारण यहां पर आज तक सुरक्षा के कोई भी इंतजाम नहीं किए गए हैं। इस तरह की घटनाएं कई बार हो चुकी है, लेकिन जिम्मेदार विभाग सबक लेने को तैयार नहीं है उन्होंने कहा ऐसी घटना की पुनरावृत्ति ना हो इसके लिए नगर पालिका और जिला प्रशासन को गंभीरता से ध्यान देना होगा।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here