शहर में वृक्षारोपण के लिए सीनियर सिटीजन ने किया पर्यावरण समितियों का गठन…

0
14

रिपोर्ट: सैयद मशकूर

सहारनपुर:  नगरायुक्त ज्ञानेंद्र सिंह ने युवाओं से वृक्षारोपण अभियान के साथ जुड़ने का आह्वान करते हुए कहा कि वृक्षारोपण उनके स्वस्थ और सुखद भविष्य का निर्माण करेगा। उन्होंने कहा कि कोरोना को हराने के लिए प्रत्येक व्यक्ति को अपनी इम्युनिटी बढ़ाने होगी और उसके लिए उन्हें योगा को अपनाते हुए मास्क के उपयोग और सोशल डिस्टेसिंग के नियमों का पालन करना होगा।

नगरायुक्त बतौर मुख्य अतिथि सीनियर सिटीजन के साथ जूम ऐप पर सिनियर सिटीजन के साथ वर्चुअल संवाद कर रहे थे। एसोसियेशन के संस्थापक अध्यक्ष के एल अरोड़ा ने इस वर्चुअल बैठक का आयोजन किया था। बैठक में 50 से अधिक सिनियर सिटीजन शामिल रहे। नगरायुक्त ने कहा कि यदि सिनियर सिटीजन का सहयोग मिला तो वह दिन दूर नहीं जब महानगर के 33 प्रतिशत भूभाग को हरियाली से आच्छादित कर हम सहारनपुर को कार्बन न्यूट्रल करने में सफल हो जायेंगे।

उन्होंने सिनियर सिटीजन से अपने परिवार के युवाओं को भी वृक्षारोपण अभियान से जोड़ने का सुझाव दिया। डाॅ. वीरेन्द्र आज़म ने शुद्ध वायु के लिए वृक्षारोपण पर जोर देते हुए कहा कि प्रदूषित वायु के कारण अकेले दिल्ली में ही वर्ष 2018 में करीब सवा चार लाख मामले श्वास संक्रमण के सामने आये थे और 492 लोगों की मौत हुई थी। ऐसे भयावह हालात से हमें केवल वृक्षारोपण ही बचा सकता है।

पर्यावरणविद प्रो. एस के अग्रवाल ने वृक्षारोपण अभियान में युवाओं की भागेदारी बढ़ाने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि पार्को में नीम, हर सिंगार तथा गिलोय आदि मेडिसिन प्लांट भी लगाए जाने चाहिए। प्रो. अग्रवाल ने लोगों को घरों पर गमलों में तुलसा व गिलोय लगाने का भी सुझाव दिया। एसोसियेशन के संस्थापक अध्यक्ष के एल अरोड़ा ने कहा कि पूरा समाज हमें पथ प्रदर्शक केे रुप में देखता है। कोरोना काल के विकट समय में हम सबका ये दायित्व है कि हम इस संकट से उबरने के लिए नगर निगम द्वारा चलायी गयी मुहिम में पूरी सक्रियता के साथ भागेदारी करें। कोषाध्यक्ष एस के लूथरा ने कहा कि जीवन बचाने के लिए हरियाली आवश्यक है। संस्था अध्यक्ष आर के जैन ने नगरायुक्त को बताया कि उनकी संस्था ने 16 सेक्टरों में पर्यावरण समितियों का गठन कर लिया है, जो अपने अपने सैक्टरों में वृक्षारोपण में सहयोग करेंगी। उन्होंने बताया कि महानगर कमेटी के लिए तीन सदस्य संयोजक मंडल का गठन भी किया गया है जिसमें डाॅ. के के खन्ना, टीएस चन्नी व के एल दाबड़ा शामिल हैं।

 

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here