महाराष्ट्र से आए प्रवासियों के लिए बना अलग क्वारंटीन सेंटर, ग्रामीणों में रोष

0
13

मुकेश बछेती

पौड़ी | प्रदेश में लगातार कोरोना संक्रमण व्यक्तियों की तादाद बढ़ती जा रही है, जिसको देखते हुए जिला प्रशासन ने अब इन प्रवसियो को रखने के लिए पौड़ी में तीन केंद्र सुनिश्चित कर दिए हैं,पौड़ी में देखा गया है कि महाराष्ट्र से आने वाले प्रवासियों में कोरोना संक्रमण की संभावना सबसे ज्यादा पाई गई है, जिसको देखते हुए जिला प्रशासन ने शहर से अलग केंद्रीय विद्यालय की नई बिल्डिंग में महाराष्ट्र से आने वाले प्रवासियों के लिए क्वॉरेंटाइन सेंटर बना दिया है,इस सेंटर में केवल महाराष्ट्र आने वाले प्रवसियो को ही रखा जा रहा है,

उपजिलाधिकारी पौड़ी अंशुल सिंह ने बताया कि हाईकोर्ट के आदेश के बाद बॉर्डर में ही प्रवशियो को रोकने के लिए कवायद तेज कर दी गई है, इसके लिए कोटद्वार और लक्ष्मण झूला में 800-800 बेड का क्वॉरेंटाइन सेंटर बना दिया गया है, इस सेंटर में बाहर से आने वाले प्रवासियों को करीब 7 दिन रखा जाएगा। इसके बाद ही यह प्रवासी जिले में दाखिल हो पाएंगे। उन्होंने बताया कि इसके साथ ही पौड़ी में केंद्र विद्यालय की पुरानी बिल्डिंग और मोक्ष रिजल्ट को भी कांटेक्ट सेंटर के रूप में प्रयोग किया जा रहा है इन दोनों जगहों में भी लोगों को क्वॉरेंटाइन किया जा रहा है उन्होंने यह भी बताया कि सबसे ज्यादा महाराष्ट्र से आने वाले प्रवासियों में इस संक्रमण की उपस्थिति ज्यादा देखी जा रही है जिसके तहत अब 7 दिन में पूरा करने के बाद अगर इन प्रवशियो में से किसी की तबीयत बिगड़ती है तो उसका कोरोना सैंपल लिया जाएगा। हालांकि केंद्र विद्यालय की जिस नई बिल्डिंग में महाराष्ट्र से आने वाली इन प्रवासियों को रखा जा रहा है उसके नजदीक के गांव के लोगों ने इसमें अपनी आपत्ति दर्ज की है उन्होंने उनका कहना है कि उन्होंने इस बिल्डिंग को बनाने के लिए उन्होंने अपनी जमीने दान की है न कि क्वॉरेंटाइन सेंटर बनाने के लिए। उन्होंने प्रशासन से मांग की है कि यहाँ ओर भारी पुलिस बल इस बिल्डिंग के बाहर तैनात होना चाहिए ताकि प्रवासी इस सेंटर से इधर-उधर ना घूम सके।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here