12 वर्षों बाद याद आया दिल दहला देने वाला हत्याकांड, हत्यारे राजेश गुलाटी को मिली टर्म बेल

0
1287
Your browser does not support the video tag.

उत्तराखंड हाईकोर्ट में चर्चित अनुपमा गुलाटी हत्याकांड के दोषी राजेश गुलाटी की शॉर्ट टर्म बेल याचिका पर सुनवाई हुई. मामले को सुनने के बाद वरिष्ठ न्यायमूर्ति संजय कुमार मिश्रा व न्यायमूर्ति आलोक कुमार वर्मा की खण्डपीठ ने आरोपी को इलाज के लिए 45 दिन की शॉर्ट टर्म बेल दी है. मामले में अब अगली सुनवाई 15 सितंबर को होगी.


राजेश गुलाटी की तरफ से दाखिल याचिका में कहा गया था कि उसका स्वास्थ्य ठीक नहीं चल रहा है. ऐसे में डॉक्टरों ने सर्जरी की सलाह ही है. इस आधार पर उसने हाईकोर्ट से शॉर्ट टर्म बेल की मांग की थी. आरोपी ने याचिका में कहा कि वह सॉफ्टेवयर इंजीनियर भी रह चुका है. जेल में अच्छे आचरण के लिए उसे जेल प्रशासन की तरफ से सर्टिफिकेट दिया गया है. ऐसे में वह जमानत नियमों का उल्लंघन नहीं करेगा.

वर्ष 2010 में उत्तराखंड में चर्चित अनुपमा गुलाटी हत्याकांड जिससे उत्तराखंड ही नहीं पूरा देश हिल गया था हत्यारे राजेश गुलाटी को कौन नहीं जानता अब यह जेल से बाहर निकलने के लिए तड़प रहा है

देहरादून की शांत वादियों में लव मैरिज का ऐसा अंजाम हुआ कि हर सुनने और देखने वाले की रुह कांप गई ही 12 वर्षों पहले हुए इस अपराध ने पूरे देश को हैरान कर दिया था। पेशे से एक साफ्टवेयर इंजीनियर राजेश गुलाटी ने झगड़ा होने के बाद अपनी पत्‍नी अनुपमा को मौत के घाट उतार दिया था। राजेश ने अनुपमा के साथ 1999 में लव मैरिज की थी। लेकिन किसी ने नहीं सोचा था कि लव मैरिज का ऐसा अंजाम होगा।