आवारा घूमते गाय व शूकर किए जाएंगे जब्त, लगेगा जुर्माना: नगरायुक्त

0
32

रिपोर्ट: सैयद मशकूर

  • आवारा घुमते गाय व शूकर किए जाएंगे जब्त, लगेगा जुर्माना
  • संचारी रोग नियंत्रण के लिए नगरायुक्त ने दिए आवश्यक निर्देश
  • पॉलीथिन के खिलाफ भी फिर शुरू होगा अभियान
  • गोबर व गंदगी बहाने वालों पर जुर्माने की कार्रवाई होगी आज से शुरू

सहारनपुर: नगरायुक्त ज्ञानेंद्र सिंह ने कहा है कि यदि सड़कों पर शूकर व गाय आदि आवारा पशु घूमते हुए पाए जाएंगे तो उन्हें जब्त कर लिया जाएगा और पशु स्वामी पर भारी जुर्माना लगाया जाएगा। उन्होंने नाले नालियों और नदियों में गोबर व गंदगी बहाने वालों के खिलाफ भी जुर्माना और सख्त कार्रवाई करने के निर्देश निगम के स्वास्थ्य विभाग को दिए हैं।

वर्षाकाल में नालों के अवरुद्ध हो जाने की समस्या से निजात पाने के लिए सभी वार्डों में पांच पांच कर्मचारियों की एक विशेष टीम भी गठित की जाएगी। इन सभी को अच्छी गुणवत्ता के रेनकोट उपलब्ध कराए जाएंगे, ताकि वर्षा के दौरान ही अवरुद्ध नाले से व्यवधान हटाकर जल प्रवाह सुनिश्चित किया जा सके। सफाई नायकों को भी रेनकोट देने के निर्देश नगरायुक्त ने दिए हैं। नगरायुक्त ने कहा कि विभिन्न स्तर अभियान आज से ही शुरु कर दिया जाए, क्योंकि निकट भविष्य में मुख्यमंत्री का दौरा भी संभावित है। उन्होंने चेतावनी दी कि कार्यों में किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

नगरायुक्त ज्ञानेंद्र सिंह ने कोरोना वायरस 2019 तथा जेई/एईएस व अन्य वैक्टर जनित रोगों की रोकथाम और प्रभावी नियंत्रण के लिए महानगर के सभी स्वास्थ्य एवं खाद्य निरीक्षकों की बैठक को संबोधित करते हुए सड़कों एवं नाले नालियों की सफाई, खुले में शौच से मुक्ति, शुद्ध पेयजल की व्यवस्था, जल निकासी की व्यवस्था, दवाओं का छिड़काव, विशेष जागरुकता अभियान के अलावा पॉलीथिन के विरुद्ध अभियान चलाने आदि। विषयों पर विस्तार से चर्चा करते हुए स्पष्ट निर्देश दिए कि किसी भी कीमत पर लापरवाही न बरती जाए और गंदगी फैलाने वालों तथा सड़कों पर पशुओं को खुला छोड़ने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। बैठक में नगर स्वास्थ्य अधिकारी डा. एके त्रिपाठी, मुख्य सफाई निरीक्षक अमित तोमर सहित सभी सफाई एवं खाद्य निरीक्षक मौजूद थे।

नगरायुक्त ज्ञानेंद्र सिंह ने कहा कि 1 जुलाई से पूरे माह संचारी रोग नियंत्रण अभियान चलेगा। जिसके तहत प्रत्येक वार्ड में सभी सफाई निरीक्षक व सफाई नायक अपनी देखरेख में सफाई, कूड़ा उठान तथा उसे कूड़ा डंपिंग ग्राउंड ले जाने की व्यवस्था करेंगे। इसके अलावा शहर के खुले नाले नालियों का विशेष सफाई अभियान चलाते हुए सभी छोटे बड़े नालों की सफाई कराई जाएगी। नालों से निकला हुआ सिल्ट तत्काल वहां से उठाकर कूड़ा डंपिंग ग्राउंड ले जाया जाएगा। कूड़ाघरों से एकत्रित हुआ कूड़ा और सिल्ट सड़क पर किसी भी कीमत पर नहीं छोड़ा जाएगा। नगरायुक्त ने कहा कि सभी सफाई निरीक्षक व सफाई नायक शहर की ओडीएफ व्यवस्था को भी ठीक से देख लें और समस्त सामुदायिक शौचालयों व पब्लिक टॉयलेट आदि की समुचित सफाई और रखरखाव सुनिश्चित कराए। उन्होंने ऐसी नालियों को ढकने के भी निर्देश दिए, जहां से संक्रमण फैल सकता हो। इसके अतिरिक्त रुके हुए पानी तथा मच्छरों के प्रजनन को रोकने के लिए गड्ढों का भराव करने और झाड़ियों को काट छांटकर साफ सफाई करने पर भी बल दिया।

नगरायुक्त ने संक्रामक रोग से लोगों को बचाने के लिए शुद्ध पेजयल की व्यवस्था के तहत नलकूप, हैंडपंपस, पाइप लाइन व अन्य उपकरणों को दुरुस्त रखने के निर्देश दिए, साथ ही पाइप लाइनों की टूट फूट की मरम्मत और जल रिसाव करने वाले स्थानों को चिन्हित करते हुए उनकी मरम्मत कराने को भी कहा, ताकि मलिन बस्तियों में स्वच्छ जल की आपूर्ति हो सके। नगरायुक्त ज्ञानेंद्र सिंह ने जल निकासी की समस्या के निस्तारण के लिए जल भराव वाले स्थानों को चिन्हित कर जल निकासी की व्यवस्था कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि संक्रामक रोगों की रोकथाम के लिए चूना, मैलाथियान व अन्य दवाओं के साथ साथ प्रत्येक दिन शाम को फॉगिंग भी कराई जाए। उन्होंने बस स्टेशन, होटल आदि सार्वजनिक स्थानों पर विशेष रुप से सफाई के निर्देश दिए।

नगरायुक्त ने महानगर में पुन: पॉलीथिन के खिलाफ अभियान शुरु करने के निर्देश देते हुए कहा कि प्लास्टिक कैरी बैग तथा थर्माकॉल से निर्मित वस्तुओं के खिलाफ शासन के निर्देशानुसार जब्त करने और जुर्माना करने की सख्त कार्रवाई शुरु की जाए।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here