मंत्री ने दिया इस विभाग को 1000 करोड़ रुपए व्यवसाय करने का टारगेट

0
139

सहकारिता मंत्री डॉ धन सिंह रावत ने कहा है कि, उत्तराखंड सहकारी संघ अपना व्यवसाय 562 करोड़ से बढाकर 1000 करोड़ रुपए का करें।

राजधानी देहरादून के यूसीएफ भवन में आज उत्तराखंड राज्य सहकारी संघ की 14वीं वार्षिक  निकाय की बैठक  संपन्न हुई वार्षिक निकाय बैठक में मुख्य अतिथि सहकारिता मंत्री डॉक्टर धन सिंह रावत ने प्रतिभाग किया निकाय बैठक में बोर्ड मेंबर समेत सभी डेलीगेट पहुंचे इस अवसर पर  सहकारिता मंत्री द्वारा

उत्तराखंड सहकारी संघ भवन में सभागार का लोकार्पण  किया भी किया गया कार्यक्रम के दौरान सहकारिता मंत्री द्वारा कहा गया कि वर्तमान में सहकारिता कि शीर्ष संस्था यूसीएफ बहुत अच्छा कार्य कर रही है मौजूदा वर्ष में यूसीएफ के द्वारा  562 करोड रुपए का साल भर में कारोबार किया है जिसमें उनका 4.49 करोड रुपए का प्रॉफिट है।  आगे भविष्य में  इस कारोबार को 1000 करोड़ रुपए तक बढ़ाया जाएगा

सहकारिता मंत्री डॉ रावत ने कहा कि, यूसीएफ कार्य दायी संस्था के रूप में  विधायक निधि और सांसद निधि का भी काम करें। उन्होंने कहा 4 करोड रुपए  यूसीएफ को स्वयं की विधायक निधि के कार्यो को कराने के लिए दिये थे।  यूसीएफ धान खरीद के साथ-साथ प्रदेश के प्रमुख कार्यदाई संस्था बने।।इस पर फोकस करें कि,  रानीखेत और हल्दुचौड़ में किस तरह से यूसीएफ की  खाली जमीनों पर व्यवसाय बढ़े। यूसीएफ अपने गोदामों में सीसीटीवी लगाये और गोदामों की क्षमता बढ़ाएं। कोपरेटिव मंत्री डॉ धन  सिंह रावत ने कहा कि साढे 5 साल में उत्तराखंड सहकारिता विभाग ने ऊंचाइयां छूई है। मंत्री ने कहा कि जब हमने सहकारिता विभाग संभाला था तब कॉपरेटिव बैंक ₹ 56 करोड़ घाटे में थे आज साढ़े पांच साल में 150 करोड़ रुपए प्रॉफिट में चल रहे हैं। 80% एमपैक्स  प्रॉफिट में हैं। उन्होंने कहा कि पहली बार सहकारिता में आईबीपीएस से बैंकों में भर्ती कराई गई है। मंत्री ने यूसीएफ के पदाधिकारियों से अपील की कि वह उत्तराखंड में टीवी मरीजों को गोद ले। उनकी देखभाल करें।

इस मौके पर यूसीएफ के चेयरमैन  मातबर सिंह रावत ने कहा कि यूसीएफ पहाड़ी क्षेत्रों से पर्वतीय क्षेत्रों के उत्पादों को खरीद कर संघ की ब्रांडिंग एवं पैकेजिंग कर विक्रय का कार्य कर रहा रहा है। जिससे किसानों को उचित मूल्य प्राप्त हो रहा है। उन्होंने  कहा कि जसपुर की स्थित भूमि के न्यायालय से बाहर आपसी सहमति से निस्तारण किया जा रहा है।

इस मौके पर ,निदेशक उमेश त्रिपाठी राजेंद्र सिंह नेगी,  विजय संत्री,  दीपक चौहान, हृदेयश सिंह , आदित्य चौहान,  शिव बहादुर सिंह, नरेंद्र सिंह,  पीतांबर राम,  श्रीमती गीता नौटियाल श्रीमती कपिल कांता, कमलावती , एमडी रमिन्द्री मंद्रवाल , प्रबंधक श्री त्रिभुवन सिंह रावत सहित पूरे प्रदेश से उत्तराखंड सहकारी संघ के आए डेलीगेट  शामिल हुए।