कोरोना संक्रमण में फ्रंट लाइन में काम करने वाले ये पुलिसकर्मी बहनों को चौकी में देखा फूले नहीं समाए…

0
37

रिपोर्ट: मुकेश बछेती

पौड़ी: आज पूरे देश में भाई-बहनों का पवित्र त्यौहार रक्षाबंधन बड़ी ही धूमधाम से मनाया जा रहा है। जहां कोरोना संक्रमण के कारण पूरे देश में लॉकडाउन चल रहा है, तो वहीं इस दौरान भी बहने अपने भाइयों की कलाई में रक्षा सूत्र बांधने के लिए एक स्थान से दूसरे स्थान बिना किसी प्रवह जा रही है।

पुराणों में मान्यता है कि इस दिन बहने अपने भाइयों की कलाई में उनकी लंबी उम्र की कामना करते हुए राखी बनती है और भाई भी बहन को उसकी रक्षा करने के लिए वचन देता है। पौड़ी से सटे पाबौ ब्लॉक में आज ऐसे ही कोरोना फाइटर्स को रक्षा सूत्र बांधने के लिए बहने पुलिस चौकी पाबौ पहुंची। कोरोना संक्रमण में फ्रंट लाइन में काम करने वाले ये पुलिसकर्मी बहनों को चौकी में देखा फूले नहीं समाए। ये पुलिसकर्मी पिछले 6 महीनों से बिना छुट्टी के लगातार अपनी सेवाएं दे रहे हैं। इन पुलिसकर्मियों को बहन की कमी महसूस ना हो इसको देखते हुए स्थानीय महिलाएं भी पुलिस चौकी पाबौ इन भाइयों को रक्षा सूत्र बांधने के लिए पहुंची और भगवान से मन्नत मांगी कि ये उनकी रक्षा के साथ साथ पूरे क्षेत्र की रक्षा के लिए हमेशा तत्पर रहें।

चौकी इंचार्ज अजय सिंह ने बताया कि उन्हें सुबह से ही इस पर्व में बहन की कमी महसूस हो रही थी। कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ते मामलों के कारण उन्हें छुट्टी भी नहीं मिल पाई। मगर स्थानीय महिलाओं ने उनके कलाई में राखी बांधकर उनकी बहन की कमी को पूरा कर दिया, तो वही स्थानीय महिला रिंकी देवी ने बताया कि वे भी कोरोना संक्रमण के कारण अपने भाइयों के पास नहीं जा पाई थी मगर उन्होंने सोचा क्यों ना अपने क्षेत्र की ही चौकी में जाकर कोरोना संक्रमण में लगातार ड्यूटी दे रहे पुलिस भाइयों को राखी बांधकर अपने भाई की कमी पूरी की जाए।

हिंदू धर्म में रक्षाबंधन को भाई बहनों का सबसे पवित्र पर्व यूं ही नहीं माना जाता। इस दिन बहने अपने भाइयों की कलाई में उनकी लंबी उम्र की कामना तो करती है,तो साथ ही भाई भी उन्हें ताउम्र उनकी रक्षा का वचन देते है।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here