इसबार कुम्भ में दिखेगी रिवर एम्बुलेंस, जानिए क्या है इसकी विशेषता…!

0
97

देहरादून:  हरिद्वार में होने वाले महाकुम्भ 2021 को लेकर तैयारियां जोरों पर है, हालाँकि कोरोना महामारी को देखते हुए पहले अनुमान लगाया जा रहा था कि इसबार कुम्भ का आयोजन होना मुश्किल है लेकिन साधू संतो व अखाड़ा परिषद के साथ हुई बैठकों के बाद सरकार ने कुम्भ के आयोजन को लेकर हरी झण्डी दे दी है।

सरकार की ओर से कुम्भ के आयोजन का रास्ता साफ होते ही तैयारियां भी तेज हो गयी है। वंही कोविड 19 के बढ़ते प्रकोप और अभी तक वैक्सीन के न बनने के कारण इस बार कुम्भ मेले में उन्हें ही आने का मौका मिलेगा जो कोविड टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट लेकर आएंगे।

वंही स्वास्थ्य व्यवस्थाओं की बात करे तो इस सम्बन्ध में कुम्भ मेला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ ए.एस सेंगर का कहना है इसबार कुम्भ के दौरान रीवर एम्बुलेंस चलाने का नया प्रयास किया जा रहा है। इसके पीछे का तर्क देते हुए डॉ सेंगर ने बताया श्रद्धालुओं की वजह से जब सड़के जाम होगी ऐसे समय मे किसी आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए ये एम्बुलेंस बहुत कारगर साबित होगी।

उदाहरण के तौर पर डॉ सेंगर का कहना है टिहरी जिले के सीएमओ रहते हुए टिहरी झील में इस तरह की एम्बुलेंस का संचाल किया था जो कि बहुत ही सफल रहा है इसलिए कुम्भ के दौरान भी इस तरह की एम्बुलेंस को तैनात करने का प्लान तैयार किया है। अगर शासन स्तर से अनुमति मिलती है तो इसतरह की 2 एम्बुलेंस को मेला क्षेत्र के हरकी पौढ़ी व भीमगोड़ा बैराज पर तैनात किया जाएगा। इस एम्बुलेंस की खासियत ये होगी कि इसमे वेंटीलेटर, ऑक्सीजन सिलेण्डर व कुशल स्टाफ को तैनात किया जाएगा, जोकि किसी भी गम्भीर परिस्थिति से निपटने में सहायक सिद्ध होगी। हालांकि इसकी कीमत की बात करे तो लगभग 80 लाख की लागत में ये दोनों एम्बुलेंस तैयार होगी।

इसके साथ ही डॉ सेंगर ने अन्य स्वास्थ्य व्यवस्थाओं की बात करे तो एसपीएस ऋषिकेश , जिला अस्पताल हरिद्वार,भेल अस्पताल, व बहादराबाद ज्वालापुर आदि अस्पतालों को अधिग्रहित किया गया है साथ ही मेला क्षेत्र में 40 एम्बुलेन्स व 10 वाहन 108 के हर समय तैनात करने का प्लान तैयार कर लिया गया है।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here