श्रद्धांजलि: शादी के दस महीने बाद ही शहीद हो गए थे मेजर विभूति, अब पति की राह पर चली निकिता…

0
40

LokJan Today(देहरादून): बीते साल पुलवामा में हुआ आतंकी हमले में देश के 44 जवान शहीद हो गए थे। इसके बाद 18 फरवरी को देहरादून के मेजर विभूति भी जैश-ए-मोहम्मद के खिलाफ चले ऑपरेशन में शहीद हो गए थे। मेजर विभूति की शहादत के बाद हर किसी की आंखे नम थी। पुलवामा हमले के बाद से 18 फरवरी तक देवभूमि के 4 बेटे शहीद हो चुके थे। जिसके बाद भारतीय वायुसेना ने एयरस्ट्राईक कर दुश्मनों से बदला लिया था।

पति की शहादत के बाद अब देश की सेवा की  चल पड़ी निकिता…

वहीं अब मेजर विभूति ढौंडियाल की पत्नी निकिता ढौंडियाल पति की शहादत के बाद अब देश की सेवा को उनकी ही राह चल पड़ी हैं। जल्द ही वह सेना में अफसर की भूमिका में नजर आएंगी। आवश्यक सभी परीक्षाएं निकिता ने पास कर ली हैं। उन्हें उम्मीद है कि मेरिट में भी वह अपना स्थान बना लेंगी। बताया जा रहा है पति की शहादत के बाद निकिता ने आर्मी ज्वाइन करने की इच्छा जताई थी। उसके बाद सेना ने उनका उत्साह बढ़ाया और मदद की। जिसका परिणाम यह हुआ कि निकिता ने सभी औपचारिक टेस्ट और इंटरव्यू पास किए।

 तीन बहनों के इकलौते भाई …

34 वर्षीय मेजर विभूति ढौंडियाल सेना के 55 आरआर (राष्ट्रीय राइफल) में तैनात थे। वह तीन बहनों के इकलौते भाई थे। मेजर विभूति का विवाह 18 अप्रैल 2018 को हुआ था। 19 अप्रैल को पहली बार पत्नी निकिता को लेकर वह डंगवाल मार्ग स्थित अपने घर पहुंचे थे। इसके ठीक दस माह बाद मेजर विभूति शहीद हो गए थे। मेजर विभूति जनवरी के पहले सप्ताह में छुट्टियां खत्म कर डयूटी पर लौटे थे। मार्च में विभूति ने घर आने का वादा किया था।

निकिता ने न केवल खुद को, बल्कि …

मेजर विभूती की शहादत के बाद उनकी पत्नी निकिता ने न केवल खुद को, बल्कि परिवार को भी संभाला। शहीद पति को अंतिम विदाई देते वक्त उन्होंने जो हिम्मत दिखाई, वह अब भी उनके हौसले को बयां करती है। वह ताबूत के पास खड़ी रहीं और पति का चेहरा हाथों से चूमकर उन्हें आई लव यू कहा। उन्हें सैल्यूट किया। अब वह पति के ही नक्शे कदम पर चल पड़ी हैं। वह दिन दूर नहीं, जब वह उनकी ही तरह फौजी वर्दी में दिखाई देंगी।

 

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here