उत्तराखंड: वनकर्मी पर भालू ने किया हमला, एनकाउंटर में ढेर हुआ भालू

0
40

जोशीमठ: जोशीमठ में आतंक का प्रयाय बने भालुओं में से एक को वन विभाग की टीम ने मंगलवार की देर रात्री लगभग डेढ बजे जोशीमठ के सिंहधार मुहल्ले में मार गिराया। बता दें कि पिछले दो दिनों से सिंहधार में वन विभाग की टीम इस भालू का पीछा कर रही थी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार सोमवार को यह भालू सुबह साढे दस बजे एक प्राईवेट स्कूल की सरहद तक जा पहुंचा था, जिसके बाद वहां से भागता हुआ सिंहधार मुहल्ले में छिप गया था। सोमवार दोहपर से ही वन विभाग का गस्ती दल एवं ट्रेंकुलाइजेशन टीम इस भालू का पीछा कर रही थी। डीएफओ नन्दा देवी नेश्नल पार्क एनबी शर्मा ने बताया कि मंगलवार की देर रात्री वन विभाग की टीम को फोन आया कि एक भालू सिंहधार मुहल्ले के आसपास घूम रहा है जिसके बाद वन विभाग की ट्रेंकुलाइजेशन टीम मौके पर पहुंची बताया कि भालू भेंटी धार के निकट छिपा हुआ था, टीम ने वहां पहुंचकर सतर्कता से भालू के छिपने के स्थान का पता लगाया व भालू पर ट्रेंकुलाइजेशन गोली चलाई ।

डीने बताया कि गोली लगने के बाद भालू ने वन कर्मियों पर हमला करने के इराते से झपटा लेकिन वन कर्मियों ने सूझ बूझ दिखाते हुए अपनी जान बचाई व हिंशक भालू लोगों के घरों में न घुसे व लोगों की जानमाल को न नुकसान पहुंचाये इसे देखेतु हुए अपनी व लोगों की आत्मरक्षा में भालू पर गोली चलाई व भालू को ढेर कर दिया। डीएफओ ने बताया कि मारा गया भालू मादा है व चार कुंटल के लगभग इसका वजन है, कहा कि भालू के पोस्टर्माटम की कार्यवाही शुरू कर दी गई है। डीएफओ ने बताया कि इस टीम में 15 लोग शामिल थे।

वहीं सभासद समीर डिमरी, अमित सती व प्रदीप भट्ट ने वन विभाग द्वारा इस आतंकी भालू को मारने पर हर्ष व्यक्त किया है। कहा कि नगर में अभी भी करीब डेढ दर्जन से अधिक भालू हैं इस लिए अन्य हिंशक भालुओं के बारे में भी उचित निर्णय लिया जाना आवश्यक है।