देखिये वीडियो पुलिस की सूझ बूझ से बची आंदोलन कर्मी की जान

0
61

देहरादून: देहरादून में उस वक्त हड़कंप मच गया जब एक वरिष्ठ राज्य आंदोलनकारी ने ख़ुद को शहीद स्मारक के भीतर क़ैद कर लिया है। वहीं खुद को पेट्रोल लेकर आग लगाने की कोशिश की है। ये देख वहां आस पास अफरा-तफरी मच गई। वहां मौके पर मौजूद लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पर पुलिस पहुंची और कड़ी मशक्कत के बाद आंदोलनकारी को शहीद स्मारक से बाहर निकाला।

आपको बता दें कि राज्य आंदोलनकारियों की स्मृतियों का स्थायी संग्रहालय और उत्तराखंड के इतिहास को स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल करने की मांग को लेकर ये कदम उठाया। आन्दोलनकरी बीएस सकलानी शहीद स्मारक में बने मंदिर में पहुंचे दीये जलाने के बहाने पहुंचे और खुद को उसमें बंद कर दिया। वहीं सूचना पाकर मौके पर पुलिस पहुंची और पानी की बौछारें की। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार लगाता आंदोलनकारियों की मांगों को अनदेखा कर रही है। बीएम सकलानी ने कहा कि उन्होंने खुद का अस्थायी संग्रहालय बनाया है, लेकिन इसके बाद भी उसके संरक्षण के लिए सरकार भवन तक नहीं बना रही है। वही अब मुकदमा दर्ज करने की चल रही हैं, तैयारी धारा 151 में शांति भंग के आरोप में।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here