कोरोना वायरस का असर अब पर्यटन सीजन पर भी दिख रहा है,होटलों में 70 फीसद एडवांस बुकिंग कैंसिल…

0
16

LokJan Today: कोरोना ने पर्यटन व्यवसाय की सेहत बिगाड़ दी है। सीजन की शुरुआत में ही नैनीताल, अल्मोड़ा, रानीखेत और रामनगर में 70 फीसद एडवांस बुकिंग कैंसिल हो गई। इससे थ्री स्टार से लेकर फाइव स्टार होटल, रिसॉर्ट और होम स्टे प्रभावित हुए हैं।

प्रदेश की अर्थव्यवस्था का मुख्य आधार पर्यटन ही है। यहां के लिए मार्च के दूसरे पखवाड़े से लेकर 30 जून तक का समय बेहद खास रहता है। इन दिनों देशी के साथ ही विदेशी पर्यटक भी सुकून की तलाश में कुमाऊं और गढ़वाल की वादियों में पहुंचते हैं। इस बार भी पर्यटकों ने जनवरी से ही होटलों में एडवांस बुकिंग करा रखी थी। लेकिन मार्च माह के पहले सप्ताह में ही यहां के होटल उद्योग को कोरोना वायरस ने अपनी चपेट में ले लिया। इस वायरस से खौफजदा 70 फीसद पर्यटकों ने अपनी एडवांस बुकिंग ही कैंसिल करा दी।

दिनेश चंद्र साह, अध्यक्ष-नैनीताल होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन ने बताया कि कोरोना के कारण पर्यटन उद्योग पर नकारात्मक प्रभाव पड़ा है। यही हाल रहा तो पूरा उद्योग पीक सीजन में चौपट हो जाएगा। मनुमहरानी जीएम के नरेश गुप्ता का कहना है कि कोरोना के कारण मार्च में 70 फीसद बुकिंग कैंसिल हो गई है। नई बुकिंग भी गिनी चुनी हो रही है। सतीश जोशी,  प्रबंधक टीआरसी चिलियानौला ने बताया कि पहले की अपेक्षा इस बार मार्च की बुकिंग में 40 फीसद गिरावट आई है। इस बार डर लग रहा है। हिमांशु उपाध्याय, अध्यक्ष होटल एसोसिएशन रानीखेत ने कहा कि कोरोना के कारण मार्च व अप्रैल में 60 फीसद बुकिंग प्रभावित हुई है। कोरोना से पर्यटन गतिविधियों को बड़ा झटका लगा है।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here